धरने से घबराई सरकार

   -सिद्धार्थ प्रिय श्रीवास्तव


    लखनऊ 27 जनवरी, हाल के दिनों में उत्तर प्रदेश में सीएए-एनआरसी के खिलाफ हुए शांतिपूर्ण प्रदर्शन के खिलाफ जिस प्रकार उत्तर प्रदेश सरकार की पुलिस द्वारा आम जनता को प्रताड़ित किया गया और उनके मानवाधिकार का हनन किया गया उसके सम्बन्ध में विस्तृत रिपोर्ट के साथ आज राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग नई दिल्ली में अखिल भारतीय कंाग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव एवं प्रभारी उ0प्र0 प्रियंका गांधी वाड्रा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद एवं राजीव शुक्ला, सांसद अभिषेक मनु सिंघवी, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, कांग्रेस विधानमण्डल दल की नेता आराधना मिश्रा‘मोना’, पूर्व विधायक  पंकज मलिक,अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज आलम सहित कई वरिष्ठ नेताओं ने उत्तर प्रदेश में हो रहे पुलिसिया उत्पीड़न की शिकायत दर्ज करायी कि किस प्रकार असंवैधानिक तरीके से एक अपराधी की भांति आम नागरिकों के साथ प्रदेश की सरकार और प्रशासन व्यवहार कर रहा है।राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से मांग की गयी है कि उ0प्र0 सरकार की दमनात्मक कार्यवाही और पुलिसिया कार्यवाही के खिलाफ उ0प्र0 के शांतिपूर्ण आन्दोलनकारियों के मानवाधिकारों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए।