प्रदेश में अपराध बढ़ा :अखिलेश यादव

     


         -राजेन्द्र चौधरी


         समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कन्नौज-फर्रूखाबाद में विभिन्न कार्यक्रमों में आज भाग लिया। उन्होंने फर्रूखाबाद जनपद के ग्राम जब्ब थाना नवाबगंज में शहीद राकेश यादव जी की प्रतिमा का अनावरण किया और डाॅ0 अनार सिंह यादव के सुपुत्र के शुभ तिलकोत्सव में भी शामिल हुए।
   छिबरामऊ में अखिलेश यादव ने पत्रकारों से कहा कि हिन्दू समाज में साधु संतो का सम्मान होता है। संत की भाषा और भावना भी तदनुरूप होनी चाहिए। मुख्यमंत्री जी जो भाषा बोल रहे है कि ठोक दो, बदला लेंगे वह शोभा नहीं देती है। उन्होंने कहा कि सीएए के विरोध में शाहीनबाग और अन्य स्थानों पर महिलाओं के प्रदर्शन पर मुख्यमंत्री जी की टिप्पणियां आपत्तिजनक हैं। उन्हें मालूम हो कि झांसी की रानी लक्ष्मीबाई ने भी आत्मसम्मान के लिए अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई की कमान सम्हाली थी। विरोध प्रदर्शन में शामिल महिलाएं भी अपने आत्मसम्मान के लिए मैदान में उतरी है।
    अखिलेश यादव ने कहा कि लगातार भाजपा के नेता महिला विरोधी बयान देते रहे हैं। वैसे भी उत्तर प्रदेश में महिला अपराध बढ़े हैं। उनकी सुरक्षा खतरे में है। बच्चियां तक भाजपा राज में सुरक्षित नहीं है। समाजवादी सरकार में 1090 वूमेन पावर सेवा थी उसे भी पंगु बना दिया गया है। कानून व्यवस्था चौपट है। हत्या, लूट, अपहरण की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। अपराधी बेखौफ हैं। पुलिस तंत्र को समाजवादी सरकार में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की यूपी डायल 100 नं0 सेवा दी गई थी जिसे भाजपा ने बर्बाद कर कर दिया।
    अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा को देश की बिगड़ती अर्थव्यवस्था की चिंता नहीं है। वैश्विक स्तर पर हम हर सर्वेक्षण में नीचे जा रहे हैं। मंहगाई बेलगाम है। किसान आत्महत्याएं कर रहे हैं। नौजवान बेरोजगारी से अवसाद में आकर फांसी लगा रहे हैं। नौकरिया हैं नहीं। जीएसटी-नोटबंदी से व्यापार धंधा चैपट है। भाजपा के पास गिनाने को अपना कोई काम नहीं है। समाजवादी सरकार के कामों को ही अपना गिनाते हुए उसने तीन साल काट लिए हैं।
  अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार अंग्रेजों की तरह जनविरोधी नीतियां अपना रही है। फर्जी एनकाउण्टर हो रहे है, मानवाधिकार आयोग उत्तर प्रदेश सरकार को तमाम नोटिसें दे चुका है। भाजपा की नीतियों से नफरत फैल रही है। पूरे देश में उनका तीब्र विरोध हो रहा है। भाजपा संविधान की मर्यादा को भी तार-तार कर रही है।
     अखिलेश यादव ने कहा कि लोकतंत्र में भाजपा का विश्वास नहीं है। बस अपनी मनमानी देश पर थोप रही है। समाज का हर वर्ग इससे असंतुष्ट है। शर्म की बात है कि छिबरामऊ में हुई दुर्घटना के मृतकों की संख्या भी नहीं बताई जा रही है। समाजवादी सरकार बनी तो मृतक आश्रितों को 20-20 लाख रूपए की मदद की जाएगी।