प्रदेश में औद्योगिक विकास का वातावरण: मुख्यमंत्री

 



  राज्य सरकार समाज के सभी वर्गों के हित और समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध,‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के संकल्प के अनुरूप राज्य सरकार बिना किसी भेदभाव के जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ सभी तक पहुंचा रही है।

   गणतंत्र दिवस संवैधानिक अधिकारों के साथ-साथ संवैधानिक कर्तव्यों और दायित्व निर्वहन के प्रति संकल्पबद्ध होने का अवसर,विश्व की सबसे बड़ी कम्पनी जेवर अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए कार्य करने जा रही है।राज्य में विभिन्न एक्सप्रेस-वे के निर्माण पर तेजी से कार्य किया जा रहा है।

   राज्य सरकार की नीतियों और औद्योगिक विकास की संस्कृति के कारण ढाई लाख करोड़ रु0 का पूंजी निवेश,अयोध्या में दीपोत्सव, प्रयागराज कुम्भ-2019, प्रवासी भारतीय दिवस, युवा महोत्सव आदि जैसे भव्य आयोजन सफलतापूर्वक सम्पन्न हुए।मुख्यमंत्री ने ‘न्यूज 18, उत्तर प्रदेश-उत्तराखण्ड’ के नए संस्करण के लाॅन्च अवसर पर आयोजित ‘राइज़िंग उत्तर प्रदेश’ कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त किए।


लखनऊ: 25 जनवरी, 2020,
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य सरकार समाज के सभी वर्गों के हित और समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के संकल्प के अनुरूप राज्य सरकार बिना किसी भेदभाव के जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ सभी तक पहुंचा रही है। उन्होंने सभी को गणतंत्र दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस संवैधानिक अधिकारों के साथ-साथ संवैधानिक कर्तव्यों और दायित्व निर्वहन के प्रति संकल्पबद्ध होने का अवसर है। सभी को ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के निर्माण के लिए अपने कर्तव्यों के प्रति जागरूक होना होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश व लोकहित में सभी आवश्यक निर्णयों को लेते हुए कार्य किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री जी आज यहां स्थानीय ताज होटल में ‘न्यूज 18, उत्तर प्रदेश-उत्तराखण्ड’ के नए संस्करण के लाॅन्च अवसर पर आयोजित ‘राइज़िंग उत्तर प्रदेश’ कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने प्रदेश में न्यूज 18 नेटवर्क के 18 वर्षों के शानदार सफर पर बधाई देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश ने विगत ढाई वर्षों में विकास की नई ऊँचाइयों का सफर तय किया है। कानून व्यवस्था के प्रति जीरो टाॅलरेंस की नीति अपनायी गई है। वित्तीय अनुशासन पर जोर देते हुए फिजूलखर्ची पर रोक लगायी गई है। विश्व की सबसे बड़ी कम्पनी जेवर अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए कार्य करने जा रही है। इसी प्रकार, राज्य में विभिन्न एक्सप्रेस-वे के निर्माण पर तेजी से कार्य किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का मुख्य मार्ग इस वर्ष के अन्त तक निर्मित हो जाएगा। पूर्व में इसकी लागत काफी अधिक थी, अब यह कम लागत में निर्मित हो रहा है, जबकि इसकी लम्बाई-चैड़ाई भी अधिक है। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास शीघ्र ही होने जा रहा है। इसी प्रकार, गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण की कार्ययोजना पर तेजी से कार्यवाही की जा रही है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में औद्योगिक विकास का वातावरण बना है। पहले सैंमसंग और टी0सी0एस0 जैसी बड़ी-बड़ी कम्पनियां यहां से पलायन कर रही थीं। अब यहां की कार्य संस्कृति में सुधार और पारदर्शिता के दृष्टिगत वे निवेश कर रही हैं। राज्य सरकार की नीतियों और औद्योगिक विकास की संस्कृति के कारण ढाई लाख करोड़ रुपए की निजी पूंजी निवेश हो रहा है। उन्होंने कहा कि देश में 05 ट्रिलियन डाॅलर की अर्थव्यवस्था के लिए उत्तर प्रदेश को 01 ट्रिलियन डाॅलर की अर्थव्यवस्था बनाए जाने पर कार्य किया जा रहा है। एम0एस0एम0ई0 क्षेत्र पर विशेष ध्यान देते हुए ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना चलायी गई है, जिसके सुपरिणाम सबके सामने हैं।मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में बगैर किसी भेदभाव के योजनाओं का लाभ सबको मिला है। 10 करोड़ इज्जतघर निर्मित कराए गए हैं। ढाई करोड़ आवास उपलब्ध कराए गए हैं। 04 करोड़ परिवारों को निःशुल्क बिजली कनेक्शन दिया गया है। 08 करोड़ परिवार रसोई गैस की सुविधा से लाभान्वित हुए हैं। 60 करोड़ लोगों को आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिला है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अयोध्या में दीपोत्सव, प्रयागराज कुम्भ-2019, प्रवासी भारतीय दिवस, युवा महोत्सव आदि जैसे भव्य आयोजन सफलतापूर्वक सम्पन्न हुए हैं। उन्होंने कहा कि नमामि गंगे के तहत गंगा जी को अविरल, निर्मल और स्वच्छ करने के लिए कार्य किया जा रहा है। गंगा जी हमारी आस्था और अर्थव्यवस्था का आधार हैं। इनके प्रति जागरूकता उत्पन्न करनेे के लिए ‘गंगा यात्रा’ का आयोजन किया जा रहा है।
इस अवसर पर श्री विशाल ने कैनवास पर मुख्यमंत्री जी की पेन्टिंग अत्यन्त अल्प समय में बनाकर भेंट की। कार्यक्रम के दौरान जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक मौजूद थे।
-------