प्रदेश में बेरोजगारी की विकराल समस्या


    लखनऊ 24 जनवरी, देश में बढ़ती बेरोजगारी संकट के आलोक में भारतीय युवा कांग्रेस द्वारा राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर की माँग को लेकर एक राष्ट्रव्यापी अभियान की शुरुआत 23 जनवरी 2020 को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रांगण से की गयी है। इसी क्रम में आज उ0प्र0 युवा कंाग्रेस मध्य जोन के अध्यक्ष दीपेन्द्र सिंह दीपांकर की अध्यक्षता में बढ़ती बेरोजगारी पर कार्यक्रम का आयोजन माल एवेन्यू, लखनऊ स्थित प्रदेश कार्यालय में किया गया।
भारत में बढ़ती बेरोजगारी के मद्देनजर भारतीय युवा कांग्रेस द्वारा एक राष्ट्रव्यापी अभियान की शुरआत की जा रही है। जिसका उद्देश्य है- भारत सरकार अविलम्ब राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर का निर्माण करे।  
    बेरोजगारी की विकराल समस्या की ओर ध्यानाकर्षण एवं भारतवर्ष के युवाओं को एक मुखर अभिव्यक्ति प्रदान करने के उद्देश्य से भारतीय युवा कांग्रेस राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर की माँग को लेकर अखिल भारतीय अभियान की शुरुआत करने जा रही है।
   राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर की मांग इसलिए आवश्यक है कि आज देश में बेरोजगारी की स्थिति विगत 45 वर्षों में सर्वाधिक भयावह हो गई है। इस अभिAnswer यान की शुरुआत 23 जनवरी को हो चुकी है। प्रत्येक बेरोजगार भारतीय व्यक्ति निर्धारित टॉल फ्री नम्बर- 8151994411 पर एक मिस्ड कॉल के माध्यम से इस अभियान से जुड़ सकता है। इस संदर्भ में, भारतीय युवा कांग्रेस द्वारा देश भर में पत्रकार वार्ताएं की जायेंगी। इस निहित एक राष्ट्रीय स्तर की पत्रकार वार्ता का आयोजन दिल्ली में भारतीय युवा कांग्रेस के प्रभारी श्री कृष्णा अल्लावरु एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री श्रीनिवास बी.वी. द्वारा की गयी।  


बेरोजगारी के आंकड़े-

- एनएसएओ  के आंकडों के अनुसार भारत में बेरोजगारी 45 सालों  में सबसे ज्यादा है।
- आंकड़ों के मुताबिक अक्टूबर 2019 में बेरोजगारी दर बढ़ कर 8.48ः पहुंच गई थी।
- अकेले ऑटो सेक्टर में ही साढ़े 3 लाख से ज्यादा लोग सिर्फ 4 महिने के अंदर बेरोजगार हुए थे।
- इस साल भारतीय रेलवे 3 लाख लोगों की छंटनी करने जा रही है। रेलवे में अभी 13 लाख कर्मचारी काम कर रहे हैं जिन्हें कम करके 10 लाख किया जा सकता है।
- सरकार 1600 करोड रुपया बचाने के लिए भारतीय सेना से 27 हजार जवानों की छंटनी की तैयारी में है।
- राष्ट्रीय आपराध ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार हर दो घंटे में 3 बेरोजगार आत्महत्या कर रहे हैं। 2018 में 12936 बेरोजगारों ने आत्महत्या की। यह आंकड़ा देश में   किसान आत्महत्या से भी ज्यादा है।


   - रिपोर्ट के मुताबिक पिछले पांच सालों में करीब 5 करोड़ लोग बेरोजगार हुए हैं। शहरी युवाओं में बेरोजगारी दर बढ़कर 18.7 प्रतिशत पहुंच गई है। ग्रामीण क्षेत्र में 3 करोड़ से ज्यादा लोग बेरोजगार हुए हैं।
- नोटबंदी से करोड़ों लोग बेरोजगार हुए हैं। सिर्फ लघु उद्योग में ही 35 लाख लोग बेरोजगार हुए हैं।
 - साल 2018 में 88 लाख महिलाएं बेरोजगार हुई हैं।
- साल 2014 में यू.पी.एस.सी. में लगभग 1364 सीटें थी जो 2018 में घटकर 759 हो गई हैे।
- एस.एस.सी. सहित कई प्रतियोगी परीक्षाओं के रिजल्ट सालों से रूके हुए हैं।
   उपरोक्त कार्यक्रम में मुख्य रुप से भारतीय युवा कांग्रेस के सचिव/प्रभारी उत्तर प्रदेश मनीष, दिलप्रीत सिंह डी.पी., उ0प्र0 युवा कांग्रेस की उपाध्यक्ष वंदना सिंह, महासचिव आस्था तिवारी, शिवम त्रिपाठी, ज्ञानेश शुक्ला, खुर्शीद खान, सचिव नितिन शुक्ला, शिवेन्द्र पाण्डेय, संदीप पाल, कार्तिक शुक्ला, सागर सिंह सोलंकी, बाराबंकी जिलाध्यक्ष श्री अकील अंसारी सहित सैकड़ों पदाधिकारी मौजूद रहे।