प्रदेश सरकार विकास के लिए कृतसंकल्पित: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने जनपद मीरजापुर में ‘गंगा यात्रा’ कार्यक्रम को सम्बोधित किया

प्रधानमंत्री के नेतृत्व में गंगा जी की निर्मलता के लिए सक्रिय प्रयास किए जा रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री श्रद्धेय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी व लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की मूर्तियों का अनावरण किया.

तहसील लालगंज के विकास खण्ड हलिया में प्रदेश के प्रथम गो-अभ्यारण्य स्थल का शिलान्यास.

‘नमामि गंगे’ परियोजना को सफल बनाने के लिए ‘गंगा यात्रा’ सफलता से आगे बढ़ रही है.

माँ विन्ध्यवासिनी देवी मन्दिर को दुनिया के सबसे सुन्दर धाम के रूप में विकसित किया जा रहा है.

जनपद में मेडिकल काॅलेज का निर्माण युद्धस्तर पर चल रहा है.

     लखनऊ 29 जनवरी, 2020, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद मीरजापुर में आयोजित ‘गंगा यात्रा’ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में गंगा जी की निर्मलता के लिए पूरे प्रदेश में सक्रिय प्रयास किए जा रहे हैं। इसके क्रम में उत्तर प्रदेश में गंगा जी की स्वच्छता, निर्मलता और अविरलता के लिए बलिया व बिजनौर से 27 जनवरी, 2020 को ‘गंगा यात्रा’ का पूरी भव्यता के साथ शुभारम्भ किया गया है।
जनपद भ्रमण के अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने विन्ध्यवासिनी देवी का दर्शन व पूजन किया। इसके उपरान्त, उन्होंने जनपद के अमरावती चैराहे पर पूर्व प्रधानमंत्री श्रद्धेय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी व भरूहना चैराहे पर लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की मूर्तियों का अनावरण किया। उन्होंने तहसील लालगंज के विकास खण्ड हलिया में प्रदेश के प्रथम गो-अभ्यारण्य स्थल का शिलान्यास भी किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ‘नमामि गंगे’ परियोजना को सफल बनाने के लिए ‘गंगा यात्रा’ सफलतापूर्वक आगे बढ़ रही है। गंगा जी में अपनी आस्था से प्रेरित होकर लोग इस अभियान से जुड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि पर्यावरण के प्रति असंवेदनशील लोगों ने गंगा जी में कूड़ा-कचरा, नालों का गन्दा पानी तथा औद्योगिक कचरा गिराकर इसको दूषित करने का काम किया। प्रधानमंत्री जी ने गंगा जी की निर्मलता व अविरलता के प्रति लोगों को जागरूक करने का कार्य किया है।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि गंगा जी हमारी आस्था ही नहीं, अपितु हमारी अर्थव्यवस्था का आधार भी हैं। गंगा जी के प्रति हम सभी का दायित्व है और उसी दायित्व को निभाने के लिए ‘गंगा यात्रा’ गांव-गांव, शहर-शहर निकाल कर उनको निर्मल व अविरल बनाने के लिए एक नया अभियान प्रारम्भ किया गया है। इस अभियान को सफल बनाने के लिए ही हम सब आज यहां उपस्थित हुए हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विगत वर्ष प्रधानमंत्री जी ने यहां मेडिकल काॅलेज का शिलान्यास किया था, जिसका निर्माण कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। अब इस नये सत्र में जनपद सोनभद्र में भी एक मेडिकल काॅलेज की स्वीकृति मिल चुकी है। बुुन्देलखण्ड में पेयजल आपूर्ति के लिए ‘ग्रामीण पाइप पेयजल’ योजना के तहत प्रधानमंत्री जी द्वारा 9000 करोड़ रुपए से अधिक की परियोजना का शिलान्यास किया जा चुका है। दूसरे चरण में विन्ध्य क्षेत्र के मीरजापुर और सोनभद्र जनपदों हेतु 6000 करोड़ रुपए की एक परियोजना तैयार की गई है। शीघ्र ही इस कार्यक्रम का शुभारम्भ किया जाएगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि माँ विन्ध्यवासिनी देवी मन्दिर को दुनिया के सबसे सुन्दर धाम के रूप में विकसित किया जा रहा है। यह धाम आध्यात्मिक एवं पर्यटन के क्षेत्र में दुनिया के सबसे सुन्दर धार्मिक क्षेत्र के रूप में विकसित होगा। विन्ध्यवासिनी देवी हमारे पूर्वजों व हमारी परम्परा की प्रतीक हैं। इस धाम की पवित्रता को बनाये रखने के लिए हम सभी को अपना योगदान देना होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जनप्रतिनिधियों के सहयोग से इस क्षेत्र की समस्याओं का निराकरण कराया जा रहा है। वर्ष 1973 से लम्बित बाण सागर परियोजना को प्रदेश सरकार द्वारा धनराशि उपलब्ध कराकर वर्ष 2018 में किसानों को समर्पित किया जा चुका है। प्रधानमंत्री जी द्वारा सोलर पावर प्लाण्ट का लोकार्पण किया गया है। प्रदेश सरकार जनपद के विकास के लिए कृतसंकल्पित है।
‘गंगा यात्रा’ के दौरान सूचना विभाग द्वारा भव्य चित्र प्रदर्शनी लगायी गयी तथा एल0ई0डी0 प्रचार वाहन से प्रचार साहित्य का वितरण किया गया। इसके अलावा, सांस्कृतिक दलों द्वारा गंगा गीत व नमामि गंगे पर कत्थक नृत्य प्रस्तुत किया गया।
कार्यक्रम को केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश के वन मंत्री श्री दारा सिंह चैहान, ग्राम्य विकास मंत्री श्री राजेन्द्र प्रताप सिंह (मोती सिंह), जल शक्ति मंत्री डाॅ0 महेन्द्र सिंह, पर्यटन व संस्कृति राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ0 नीलकण्ठ तिवारी, ऊर्जा राज्यमंत्री श्री रमाशंकर सिंह पटेल, सांसद श्रीमती अनुप्रिया पटेल, विधान परिषद सदस्य श्री स्वतंत्र देव सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी सम्बोधित किया।
इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।