प्रसपा (लोहिया) सीएए पर किसी भी सार्वजनिक मंच पर बहस के लिए तैयार-डॉ सीपीराय

      प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के मुख्य प्रवक्ता डॉ सी पी राय ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की चुनौती पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि लोकतंत्र में असहमति को खारिज करना बेहतर संकेत नहीं हो सकता।  मुख्य प्रवक्ता ने कहा कि भारत के गृहमंत्री ने सी ए ए ,एन आर सी व एन पी आर पर उठ रहे असहमति के स्वर को चुनौती दी है। भारतीय लोकतंत्र में असहमति की स्वतंत्र परम्परा रही है। डॉ राय ने कहा कि केंद्र सरकार पाकिस्तान से बात कर सकती है, चीन से बात कर सकती है, लेकिन शाहीन बाग और देश के अलग - अलग हिस्सों में बैठी देश की बेटियों से बात नहीं कर सकती। ट्रिपल तलाक के बिल पर मुस्लिम महिलाओं के लिए अति संवेदनशील भाजपा सरकार अब आखिर इन महिलाओं के प्रति इतनी उपेक्षा का रवैया क्यों अपना रही है।      डॉ सी पी राय ने कहा कि हम विकास पर बहस करने को तैयार हैं।  देश बेरोजगारी के दलदल में फंस गया है। इतने बड़े पैमाने पर बेरोजगारी कभी नहीं आई होगी। अब तो किसान के बाद नौजवान भी आत्महत्या करने लगे हैं। असल में देश में अर्थव्यवस्था, नौकरी, नोटबंदी के सवाल पर बहस होनी चाहिए न कि भावनात्मक मुद्दों पर। डॉ सी पी राय ने कहा कि और इन मुद्दों पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) किसी भी सार्वजनिक मंच पर बहस के लिए तैयार है।