बच्चों के धैर्य, साहस व दृढ़ इच्छाशक्ति की सराहना के साथ सम्मान



  • मुख्यमंत्री ने जनपद फर्रुखाबाद की घटना के बहादुर बालक-बालिकाओं तथा इस आपरेशन से जुड़ी उत्तर प्रदेश पुलिस एवं प्रशासन की टीम को सम्मानित किया।

  • अपराध और अपराधियों के प्रति राज्य सरकार की जीरो टाॅलरेंस नीति

  • बच्चों को बंधक बनाए जाने की घटना से सबक लेते हुए सभी को सतर्क व सजग रहना होगा।

  • मुख्यमंत्री ने पुलिस की टीम को 10 लाख रु0 का चेक तथा प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया।

  • प्रशासनिक अधिकारियों व कर्मचारियों को भी प्रशस्ति-पत्र प्रदान किए।

  • मुख्यमंत्री ने कु0 अंजलि के धैर्य, सूझ-बूझ व साहस की प्रशंसा करते हुए विशेष प्रशस्ति-पत्र व टैबलेट प्रदान किया।

  • कु0 अंजलि को 51 हजार रु0 से पुरस्कृत किए जाने की घोषणा।

  • इस आपरेशन में जान की परवाह न करते हुए सहयोग प्रदान करने वाले अनुपम दुबे को 50 हजार रु0 दिए जाने की घोषणा।

  • प्रभावित सभी बालिकाओं को ‘मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना’ से लाभान्वित किया जाएगा।

  • अनाथ बच्ची को ‘मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना’ से लाभान्वित करने के निर्देश, उसकी परवरिश और अन्य व्यवस्थाएं राज्य सरकार द्वारा सुनिश्चित की जाएंगी।

  • ग्राम करथिया में मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत पात्रों को आवास उपलब्ध कराया जाएगा।

  • आवास, शौचालय, पाइप पेयजल, सड़क और ड्रेनेज के सम्बन्ध में जिला प्रशासन को 03 दिन के भीतर प्रस्ताव बनाकर भेजे जाने के निर्देश।

  • बेहतर समन्वय व रणनीति का यह परिणाम रहा कि उ0प्र0 पुलिस द्वारा किए गए सफल आॅपरेशन की देश व दुनिया में तारीफ हो रही है।



लखनऊ: 07 फरवरी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अपराध और अपराधियों के प्रति राज्य सरकार की जीरो टाॅलरेंस की नीति है। जनपद फर्रूखाबाद में बच्चों को बंधक बनाए जाने की घटना से सबक लेते हुए सभी को सतर्क व सजग रहना होगा। ऐसे आपराधिक व असामाजिक तत्वों पर निगाह रखी जाए और उनकी मानसिकता को देखते हुए काउंसलिंग तथा बचाव की अन्य कार्यवाही की जाए। उन्होंने ऐसी घटना तथा अन्य आपदा सम्बन्धित घटनाओं से निपटने के लिए आपदा प्रबन्धन को स्कूली पाठ्यक्रमों में शामिल किए जाने की भी बात कही। उन्होंने सभी प्रभावित बच्चों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस घटना के दौरान बच्चों ने जिस धैर्य, साहस व दृढ़ इच्छाशक्ति का परिचय दिया, उससे सभी को सीख लेनी चाहिए।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर गत 30 जनवरी, 2020 को जनपद फर्रूखाबाद के ग्राम करथिया में बच्चों को बंधक बनाए जाने की घटना के दृष्टिगत बहादुर बालक-बालिकाओं तथा इस आॅपरेशन से जुड़ी उत्तर प्रदेश पुलिस एवं प्रशासन की टीम को सम्मानित कर रहे थे। उन्हांेने इस घटना के पीड़ित 25 बहादुर बालक व बालिकाओं को स्कूल बैग, खिलौने व खेल का सामान देकर सम्मानित करते हुए उनके हौसले की सराहना की। उन्होंने इस घटना के सफल आॅपरेशन में शामिल पुलिस की टीम को 10 लाख रुपए का चेक तथा प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया। उन्होंने इस आॅपरेशन में शामिल प्रशासनिक अधिकारियों व कर्मचारियों को भी प्रशस्ति-पत्र प्रदान किए।


    मुख्यमंत्री ने इस घटना के दौरान कु0 अंजलि के धैर्य, सूझ-बूझ व साहस की प्रशंसा करते हुए विशेष प्रशस्ति-पत्र एवं 51 हजार रुपए से पुरस्कृत किए जाने की घोषणा की। उन्होंने इस आपरेशन में जान की परवाह न करते हुए सहयोग प्रदान करने वाले श्री अनुपम दुबे को 50 हजार रुपए दिए जाने की घोषणा की। साथ ही, इस घटना में घायल होने के उपरान्त उनकी निःशुल्क चिकित्सा व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। ज्ञातव्य है कि इस घटना में श्री अनुपम दुबे पैर में गोली लगने से घायल हो गए थे।
     मुख्यमंत्री ने कहा कि इस घटना से प्रभावित सभी बालिकाओं को ‘मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना’ से लाभान्वित किया जाएगा। उन्होंने इस घटना में मृत अपराधी पति-पत्नी की बच्ची को भी ‘मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना’ से लाभान्वित किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि अनाथ बेटी की परवरिश और अन्य व्यवस्थाएं राज्य सरकार द्वारा सुनिश्चित की जाएंगी। उन्होंने इस घटना के केन्द्र बिन्दु रहे ग्राम करथिया में सभी पात्र व्यक्तियों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास उपलब्ध कराने हेतु प्रस्ताव बनाए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शौचालय, पाइप पेयजल, सड़क और ड्रेनेज के सम्बन्ध में भी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने जिला प्रशासन को इन सबके लिए 03 दिन के भीतर प्रस्ताव बनाकर भेजे जाने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री जी ने इस घटना की विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि घटना की जानकारी मिलने पर तुरन्त क्राइसिस मैनेजमेण्ट कमेटी की बैठक बुलायी गई और उचित कार्रवाई के निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि इस घटना के प्रति पूरा देश चिन्तित था। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवं केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी ने भी घटना के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने सहानुभूति और समर्थन देते हुए कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा भी सभी सम्भव सहयोग प्रदान किया जाएगा। आई0जी0 कानपुर परिक्षेत्र को तुरन्त मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए गए। यह कहा गया कि पहली प्राथमिकता बच्चों को हर हाल में सुरक्षित रखने की है। उन्होंने कहा कि बेहतर समन्वय व रणनीति का यह परिणाम रहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा इस आॅपरेशन को सफलतापूर्वक सम्पादित किया गया, जिसकी देश व दुनिया में तारीफ हो रही है।
      अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने इस घटना के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री जी के मार्गदर्शन के लिए उनका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार आमजन की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होेंने ग्रामीण क्षेत्रों में बीट सिस्टम को और सुदृढ़ किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि पुलिस के अच्छे कार्यों को प्रोत्साहित किया जाएगा।
घटना के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री जी के विशेष मार्गदर्शन और बच्चों की सुरक्षा के प्रति उनकी चिन्ता के लिए आभार व्यक्त करते हुए श्रीमती रजनी ने घटना का पूरा वृत्तान्त प्रस्तुत किया, जिनके तीन बच्चे इस घटना में बंधक बनाए गए थे। कु0 अंजलि ने भी इस घटना में अपने द्वारा की गई कार्यवाही का वर्णन करते हुए कहा कि सभी बच्चों को तहखाने में बंधक बनाया गया था, जिसमें तार द्वारा जुड़ा सिलेण्डर बम रखा हुआ था। उसने इस तार को सूझ-बूझ के साथ काट दिया था। आई0जी0 कानपुर रेंज श्री मोहित अग्रवाल ने इस घटना और इसके आॅपरेशन की विस्तृत जानकारी दी।इस अवसर पर घटना के सम्बन्ध में एक लघु फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया। इस दौरान उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा, वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना, महिला कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाती सिंह, भोजपुर के विधायक  नागेन्द्र सिंह राठौर, पुलिस महानिदेशक  एच0सी0 अवस्थी, प्रमुख सचिव महिला कल्याण  वीना कुमारी मीना, सूचना निदेशक शिशिर एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।