भारत के शौर्य, पराक्रम और गौरव डिफेंस एक्सपो
डिफेंस एक्स्पो-2020 का समापन समारोह,डिफेंस एक्स्पो-2020 ने देश के शौर्य और पराक्रम को उ0प्र0 और 

राजधानी में देखने का दुर्लभ अवसर प्रदान किया.

डिफेंस काॅरीडोर प्रधानमंत्री की भावना के अनुरूप देश व प्रदेश को रक्षा उत्पादन के हब के रूप में स्थापित करने में सफल होगा.

प्रदेश की विशालता के अनुरूप डिफेंस एक्स्पो-2020 

का आयोजन अत्यन्त विराट और सफल रहा. 

डिफेंस एक्स्पो-2020 का यह आयोजन अनेक मायनों में अभूतपूर्व 

यह आयोजन रक्षा क्षेत्र में देशवासियों की 

आशाओं और आकांक्षाओं का प्रतीक: केन्द्रीय रक्षा मंत्री

पहली बार डिफेंस एक्स्पो में इण्डो-अफ्रीकन 

डिफेंस मिनिस्टर्स काॅन्क्लेव आयोजित

डिफेंस एक्स्पो-2020 इन्स्टाग्राम फोटो काॅन्टेस्ट के विजेता सम्मानित,यूपीडा की काॅफी टेबल बुक ‘उत्तर प्रदेश डिफेंस काॅरीडोर,द हेक्सागाॅन आॅफ सिक्योरिटी एण्ड प्राॅसपेरिटी’ का विमोचन.

 



 

 

  लखनऊ: 08 फरवरी, योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि डिफेंस एक्स्पो-2020 ने देश के शौर्य और पराक्रम को उत्तर प्रदेश और राजधानी में देखने का दुर्लभ अवसर प्रदान किया। यह एक अद्वितीय और अविस्मरणीय आयोजन था। यह आयोजन भारत के शौर्य, पराक्रम और गौरव का महाकुम्भ सिद्ध हुआ।
मुख्यमंत्री जी आज यहां डिफेंस एक्स्पो-2020 के समापन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। लखनऊ को इस आयोजन का अवसर उपलब्ध कराने और इससे उत्तर प्रदेश को जोड़ने के लिए रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के डिफेंस काॅरीडोर के लिए रक्षा मंत्री ने एक बहुत मजबूत आधार उपलब्ध कराया है। यह डिफेंस काॅरीडोर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की भावना के अनुरूप देश व प्रदेश को रक्षा उत्पादन के हब के रूप में स्थापित करने में सफल होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि डिफेंस एक्स्पो-2020 का आयोजन हमारे लिए एक चुनौती भी था और एक अवसर भी। चुनौती यह कि पिछले किसी भी डिफेंस एक्स्पो से इसे अच्छा और बेहतर आयोजित किया जाए। और अवसर इस दृष्टि से कि कैसे इसके माध्यम से प्रदेश में निवेश लाया जाए। राज्य सरकार की टीम ने रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार से मिलकर इस कार्य को सफलता की नई ऊँचाइयों तक पहुंचाया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में इसकी सर्वाधिक जनसंख्या के अनुरूप आयोजन होना चाहिए। प्रदेश की विशालता के अनुरूप डिफेंस एक्स्पो-2020 का आयोजन अत्यन्त विराट और सफल रहा। एक्स्पो के दौरान डिफेंस इण्डस्ट्रियल काॅरीडोर में 50 हजार करोड़ रुपए के निवेश के 23 एम0ओ0यू0 हस्ताक्षरित हुए, जो ढाई से तीन लाख नौकरी एवं रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएंगे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि डिफेंस एक्स्पो-2020 का यह आयोजन अनेक मायनों में अभूतपूर्व रहा। किसी डिफेंस एक्स्पो में पहली बार 40 देशों के रक्षा मंत्री शामिल हुए, 70 देशों की सहभागिता रही, 3000 विदेशी डेलीगेट्स तथा 10 हजार भारतीय डेलीगेट्स ने प्रतिभाग किया। कल तक 12 लाख से अधिक लोग यह आयोजन देख चुके होंगे।  
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य में डिफेंस एक्स्पो के सफल आयोजन के बाद उत्तर प्रदेश की क्षमता पर कोई प्रश्न नहीं लगा सकता। विगत दो-ढाई वर्ष में प्रदेश सरकार ने अनेक सफल आयोजन किए हैं। हमने हर आयोजन को सफलता की उन ऊँचाइयों पर पहुंचाया, जिन्हें अन्य को करने के लिए बहुत प्रयास करने पड़ते। फरवरी, 2018 में उत्तर प्रदेश के इतिहास की पहली इन्वेस्टर्स समिट आयोजित की, जिसमें 05 लाख करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव मिले। मात्र 06 महीने के अन्दर प्रथम ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी के माध्यम से 65 हजार करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव को जमीन पर उतारने में सफलता हासिल हुई। इस उपलब्धि की सराहना प्रधानमंत्री जी द्वारा की गई। अब तक प्रदेश में ढाई लाख करोड़ रुपए का निवेश आ चुका है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्ष 2019 में दुनिया का सबसे बड़ा सामाजिक, सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक आयोजन प्रयागराज कुम्भ आयोजित किया गया। भारत सरकार एवं राज्य सरकार के सामूहिक प्रयासों से यह सम्पन्न हुआ। इसमें 24 करोड़ 56 लाख श्रद्धालुओं ने गंगा जी में डुबकी लगाई। इस आयोजन ने स्वच्छता, सुरक्षा और सुव्यवस्था के मानक स्थापित किए। पहली बार राष्ट्रीय राजधानी या किसी राज्य की राजधानी के बाहर काशी में प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन सम्पन्न हुआ। इसमें साढ़े सात हजार से अधिक अप्रवासी भारतीयों और भारतवंशियों की भागीदारी रही। वर्ष 2019 में द्वितीय ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी भी आयोजित की गई।
इस वर्ष जनवरी माह में राजधानी लखनऊ में 23वां राष्ट्रीय युवा उत्सव आयोजित किया गया, जिसमें पूरे देश के 07 हजार से अधिक युवाओं की भागीदारी रही। इस दौरान 7वें राष्ट्रमण्डल संसदीय संघ भारत प्रक्षेत्र सम्मेलन आयोजित किया गया। गंगा जी की आस्था को अर्थव्यवस्था से जोड़ने के लिए गंगा यात्रा निकाली गई।
मुख्यमंत्री जी ने टीम वर्क के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह जितना समन्वयी होगा, कार्य उतना सफल होगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि टीम वर्क के साथ प्रदेश को देश के नए निवेश डेस्टिनेशन के तौर पर स्थापित करने में हम सफल होंगे। उन्होंने डिफेंस एक्स्पो-2020 के सफल आयोजन के लिए प्रशासनिक अधिकारियों के योगदान की सराहना भी की।
समापन समारोह को सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने डिफेंस एक्स्पो-2020 की अभूतपूर्व सफलता पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि यह आयोजन रक्षा क्षेत्र में देशवासियों की आशाओं और आकांक्षाओं का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि लम्बे समय से वे लखनऊ की सेवा करते आ रहे हैं। रक्षा मंत्री होने के नाते वे यहां रक्षा क्षेत्र से जुड़ी गतिविधियों को होते देखना चाहते थे। इसके लिए डिफेंस एक्स्पो-2020 से बेहतर शायद ही दूसरी कोई इवेन्ट होती। महज तीन से चार दिन की इस इवेन्ट ने पूरी दुनिया को यह दिखा दिया है कि रक्षा के क्षेत्र में नया भारत सशक्त, समर्थ और समृद्ध ही नहीं हुआ, बल्कि विश्व की बड़ी से बड़ी शक्तियों के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ने के लिए पूरी तरह तैयार है। यह आयोजन एक शंखनाद था, जिसने बड़े ऊँचे स्वरों में दुनिया को बताया कि आने वाला समय भारत का होगा। यह एक उद्घोष था कि आने वाले समय में हमारा देश ग्लोबल डिफेंस मैनुफैक्चरिंग का एक बहुत बड़ा केन्द्र बनेगा।
केन्द्रीय रक्षा मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में विश्व में भारत की प्रतिष्ठा बढ़ी है। डिफेंस एक्स्पो-2020 में विभिन्न देशों से 3000 डेलीगेट्स की भागीदारी ने इस आयोजन की गरिमा को बढ़ाया है। पहली बार डिफेंस एक्स्पो में इण्डो अफ्रीकन डिफेंस मिनिस्टर्स काॅन्क्लेव आयोजित हुआ। इसमें आतंकवाद के खतरे से निपटने के लिए ‘लखनऊ डेक्लरेशन’ एडाॅप्ट किया गया। इसके तहत इन्फाॅर्मेशन, इण्टेलीजेन्स तथा सर्विलांस शेयरिंग के लिए सहयोग को बढ़ाया जाएगा। इस आयोजन ने मित्र देशों के रक्षा मंत्रियों के साथ बात करने का एक मंच प्रदान किया। उन्होंने कहा कि डिफेंस एक्स्पो-2020 भारतीय रक्षा विनिर्माण क्षेत्र के लिए एक ब्रेक थू्र है। भारत रक्षा क्षेत्र में न केवल आत्मनिर्भर होगा, बल्कि बड़ा निर्यातक भी बनेगा।
आयोजन की सफलता के सन्दर्भ में केन्द्रीय रक्षा मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने सिद्ध किया है कि उत्तर प्रदेश में अद्भुत क्षमता है। उन्होंने कहा कि यू0पी0 का अर्थ अनलिमिटेड पोटेन्शियल है। डिफेंस एक्स्पो-2020 के कारण लखनऊ की चर्चा विदेशी मीडिया में हो रही है। इस आयोजन से लखनऊ की वैश्विक पहचान बनी है।
केन्द्रीय रक्षा मंत्री ने कहा कि डिफेंस एक्स्पो में भारतीय सेना की लाइव डिमाॅन्सट्रेशन से इसकी क्षमता का अंदाजा लगाया जा सकता है। समुद्र में होने वाली गतिविधियों का गोमती रिवर फ्रण्ट पर प्रदर्शन सराहनीय रहा है। हमारी सेना विपरीत परिस्थितियों में देश को सुरक्षित रखने के साथ ही, आपदा के समय भी अच्छा कार्य करती है। भारतीय सेना का यह मानवीय पक्ष इसे विशिष्ट बनाता है।
समारोह को प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री श्री सतीश महाना, केन्द्रीय रक्षा सचिव डाॅ0 अजय कुमार तथा संयुक्त सचिव रक्षा उत्पादन, रक्षा मंत्रालय डाॅ0 अमित सहाय ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम के अन्त में एच0ए0एल0 के चेयरमैन व एम0डी0 श्री आर0 माधवन ने अतिथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।


समारोह के दौरान डिफेंस एक्स्पो-2020 इन्स्टाग्राम फोटो काॅन्टेस्ट के विजेताओं को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर यूपीडा की काॅफी टेबल बुक ‘उत्तर प्रदेश डिफेंस काॅरीडोर: द हेक्सागाॅन आॅफ सिक्योरिटी एण्ड प्राॅसपेरिटी’ का विमोचन किया गया।
इस अवसर पर प्रदेश सरकार में मंत्री श्री आशुतोष टण्डन, श्री चेतन चैहान सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश चन्द्र अवस्थी, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना तथा यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास श्री आलोक कुमार सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।