भगवान राम की मर्यादा का उलंघन न करना है न करने देना है-योगी


      अयोध्या 23 फरवरी,  विड़ला धर्मशाला के सामने पुराने बस स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में सन्तो के साथ वैकुण्ठ उत्सव कार्यक्रम में भाग लिया इसके पूर्व सुग्रीवकिलाधाीस ज0गु0रा0श्री स्वामी पुरोषोत्तमाचार्य जी महाराज के विग्रह का अनावरण किया। आयोजित उत्सव में मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी ने अपने उद्बोधन में कहा कि देशवासियो ने मोदी जी पर विश्वास किया है तो हम धैर्य नही खोना चाहिए, हम सबको भगवान राम की मर्यादा का उलंघन न करना है न करने देना है हमे मोदी जी पर विश्वास करना है 500 वर्षो में न जाने कितनी पीढ़ीयां चली गई हम लोग सौभग्यशाली है कि हम भगवान श्री राम के मंदिर को बनते देख पायेंगे। उन्होंने कहा कि बिनाभेद-भाव के 120 करोड़ लोगो को आवास देना, आयुष्मान भारत योजना के तहत लोगो को 05 लाख तक की स्वास्थ्य बीमा से अच्छादित करना, उज्जवला योजना, सौभाग्य योजना, किसान सम्मान योजना में किसी के साथ कोई भेद-भाव नही किया गया है इस योजनाओ का लाभ सभी धर्मो एवं जातियो के लोगो को मिला है यही रामराज्य की परिकल्पना है। उन्होंने आगे कहा पिछले वर्ष दीपावली में 05 लाख 50 हजार दीप जले थे, अयोध्या के हर घर में दीप जले थे, पूरी अयोध्या एक जुट हुई ओर राममंदिर का मार्ग प्रशस्त हो गया। प्रदेश सरकार ने सबसे पहले अवैध बूचड़खानो को बन्द किया, निराश्रित गौःवंश योजना शुरू की, लगभग 04 लाख निराश्रित गौःवंश गौशालाओ में निवास कर रही है। उन्होंने कहा कि जानवरो में खुरपका, मुॅहपका जैसी बीमारियों को पूर्ण रूप से समाप्त करने के लिए योजनाए चलाये। भारत दुग्ध उत्पादन में बड़ा देश है लेकिन खुरपका व मुॅहपका के कारण बाहर दूध नही जा पाता है। 2025 तक हमेशा के लिए इसे समाप्त करना है। गौ संरक्षण ओर संवर्धन के साथ उनके उपचार की व्यवस्था हो यही असली गौ-सेवा हैं.