जाने- कितना प्यार करती है आपकी .....?

       


    यदि आप यह सचमुच में जानने को बेताब हैं कि आपकी पत्नी आपको प्यार करती है या नहीं, तो बस यह गौर कीजिए कि वह कितनी बार आपको गले लगाती हैं या आपका चुंबन लेती है। 'डेली मेल' में प्रकाशित एक रिपोर्ट में एक नए सर्वेक्षण के हवाले से बताया गया है कि महिलाएं अगर अपने पति से प्यार करती हैं, तो उन्हें गले लगाती है और चुंबन लेती हैं और नखरे भी कम दिखाती हैं।


अध्ययन में पाया गया कि पुरुष स्वभाव से रोमांटिक नहीं होते हैं और वे घर के कामकाज में योगदान देकर अपना प्यार जाहिर करते हैं। इस सर्वेक्षण में 168 दंपतियों को शामिल किया गया। पुरुषों ने विभिन्न तरीकों से अपनी भावनाएं महिलाओं को जाहिर की।एक ओर जहां महिलाओं ने नकारात्मक विचार और भावनाएं छिपाकर प्यार प्रदर्शित किया, वहीं दूसरी ओर पुरुषों ने कपड़े धोने जैसे घर के कामकाज में हाथ बंटाकर या कामुक क्रियाओं की शुरुआत करके अपना प्यार जाहिर किया। वैसे पति जो अपनी पत्नी से अधिक प्यार करते हैं, उनके सहवास करने की अधिक संभावना होती है। इस बारे में अध्ययनकर्ताओं ने बताया कि यह इस विचार का समर्थन करता है कि पुरुषों द्वारा अपने प्यार को प्रकट करने का यह एक अहम माध्यम है।अध्ययन में दावा किया गया है कि महिलाओं की ओर से कामुक क्रियाओं की शुरुआत करने की कम संभावना होती है। यह अध्ययन 'पर्सनैलिटी एंड सोशल साइकोलॉजी बुलेटिन' में प्रकाशित हुआ है।


                    (यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


10 बातें जो पति को कभी न बताएं






1. पति को अपनी पर्सनल सेविंग के बारे में कभी भी न बताएं. वे आपकी इमर्जेन्सी में काम आने वाले बचत के पैसे होते हैं. पुरुषों की प्रवृत्ति भी कुछ हद तक फ़िजूलख़र्ची की होती है. ऐसे में उन्हें अपने बचत के पैसों के बारे में न बताना ही ठीक रहता है.


2. शादी से पहले या फिर अतीत में कभी आपका कोई अ़फेयर रहा हो तो उसके बारे में पति को कतई न बताएं. पति पज़ेसिव और शक्की मिज़ाज के होते हैं. वे इस तरह की बातें बिल्कुल बर्दाश्त
नहीं करते. साथ ही यदि पुरुष मित्र को आप बहुत पसंद भी करती हों तो पति को न कहें, न ही उसका अधिक नाम लें. इससे भविष्य में कई समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं.


3. पार्टी, फंक्शन, रिश्तेदारों के बीच, दोस्तों के साथ रहने पर उनके सामने पति की कमियों और बुरी आदतों का रोना रोने न लग जाएं. बहुत कम पति होते हैं, जो इन सब बातों को सहज ढंग से लेते हैं. लेकिन इससे जहां पति के मान-सम्मान को ठेस पहुंचती है, वहीं पति तनाव और हीनभावना के शिकार भी होते हैं.


4. अपने मायके और ससुराल के किसी व्यक्ति विशेष ख़ासकर ननद, देवर, बहन आदि की बुराई उनके सामने न करें. इससे कभी-कभी बात का बतंगड़ बन सकता है.



5. मुझे आप पर विश्‍वास नहीं रहा- इस तरह की बातें पति से न बोलें. पति-पत्नी का रिश्ता ही विश्‍वास की नींव पर टिका होता है. कहीं ऐसा न हो कि आपकी यह सोच रिश्तों में दरार पैदा कर दे.


6.पति को यह कभी न क़हें कि आप उन्हें पसंद नहीं करतीं या उनसे नफ़रत करती हैं. अक्सर पत्नियां झगड़ा होने या किसी भी तरह का वाद-विवाद होने पर पति को इस तरह के उलाहने देकर कोसती हैं. आपका इस तरह से कहना उन्हें आहत कर सकता है.


7. यदि आप पति से अधिक सुंदर हैं या फिर आपकी बेमेल जोड़ी है तो इस बात का गुरूर न करें. शादी-ब्याह और रिश्ते संजोग से बनते हैं. बात-बात पर आपका पति को नीचा दिखाना और अपनी ख़ूबसूरती का बखान करना उन्हें दुखी कर देगा. इससे वे डिप्रेशन के भी शिकार हो सकते हैं.


8. यदि आप कामकाजी हैं तो यक़ीनन ऑफ़िस में आपको तरह-तरह के लोगों को रोज़ाना हैंडल करना पड़ता होगा, अतः बेहतर होगा कि घर-ऑफ़िस को अलग-अलग रखें. न घर की बातें ऑफ़िस में, न ऑफ़िस की घर में, क्योंकि पति आपकी ऑफ़िस की समस्या को उतना समझ तो पाएंगे नहीं, बल्कि आपकी परेशानी से वे भी परेशान हो उठेंगे.


9. अपने उच्च पद और तनख़्वाह (यदि पति से अधिक) का पति पर रौब न जमाएं. हर इंसान का अपना कैलिबर होता है. आपका यह व्यवहार उन्हें कुंठित कर सकता है.


10. हमारे मायके में तो ऐसा नहीं होता था… अक्सर पतियों को अपनी पत्नियों से इस तरह के जुमले सुनने  को मिलते हैं. पत्नियां ससुराल के रीति-रिवाज़, क्रियाकलापों आदि की तुलना अपने मायके से करती रहती हैं, जिससे शायद हर पति पीड़ित रहता है. अधिकतर पति कहते नहीं, लेकिन ये सभी बातें उनके मन में चुभती ज़रूर हैं. अतः बेहतर होगा कि इस तरह की बातों से बचें.