खनन को लेकर बसपा विधायक  ने उठाया मुद्दा

     विधानसभा में असलम राईनी ने उठाया मुद्दा.14 फरवरी को मुख्यमंत्री से प्रश्न हुआ था कि प्रदेश में मोरंग गिट्टी बालू नहीं मिल रही है.14 दिन बाद भी किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं हो पाई.14 दिन से लाल मोरंग गिट्टी का रेट कम नहीं हो सका है.लगातार बालू मौरंग और गिट्टी के दाम बढ़ते चले जा रहे हैं.अगर नियमानुसार काम हो तो मोरंग बालू के रेट कम होंगे.अगर पारदर्शी तरीके से काम हुआ तो अधिकारियों की अवैध कमाई बंद हो जाएगी.  इस पूरे मामले की जांच एसआईटी से जांच होनी चाहिए. भाजपा के सरकार में अधिकारी दिमाग की तरीके से सरकार को काट रहे हैं.2022 में भाजपा की सरकार आना उत्तर प्रदेश में मुश्किल लग रहा है.