मिशन प्रेरणा का उद्देश्य बुनियादी शिक्षा देना-विजय किरण आनन्द


      अयोध्या 26 फरवरी, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा में गुणात्मक सुधार एवं शिक्षा के स्तर एवं आम लोगो के लिए सुलभ कराने हेतु मिशन प्रेरणा के अन्तर्गत आपरेशन कायालकल्प योजना के तहत मण्डलीय गोष्ठी का आयोजन मण्डलायुक्त एम0पी0 अग्रवाल की अध्यक्षता में डाॅ0 राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के स्वामी विवेकानन्द प्रेक्षागृह में आयोजित किया गया। इसमें मुख्य अतिथि के रूप में अपर मुख्य सचिव शिक्षा रेणुका कुमार तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में सर्व शिक्षा के महानिदेशक विजय किरण आनन्द ने भाग लिया। इन अधिकारियों का मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी अयोध्या अनुज कुमार झा द्वारा स्वागत किया गया तथा मण्डल में इस अभियान के संचालन की संक्षिप्त जानकारी दी गई। इस अवसर पर जिलाधिकारी बाराबंकी डा0 आदर्श सिंह, जिलाधिकारी सुल्तानपुर सी0 इन्दुमती, जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर राकेश कुमार मिश्र सहित मुख्य विकास अधिकारी अयोध्या प्रथमेश कुमार सहित मण्डल के मुख्य विकास अधिकारीगण, बेसिक शिक्षा अधिकारीगण, विद्यालय के अध्यापक, प्रधानाध्यापक, शिक्षाविद आदि उपस्थित रहे।
     अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने कहा कि जब अधिकारी फील्ड में जायें तो ऐप पर लोड की गयी फोटो को चेक करें तथा देखें कि फोटो ठीक से लोड की गयी है अथवा नहीं। बच्चों को हिन्दी, अंग्रेजी दोनों में लिखने-पढ़ने की जानकारी दें एवं इसकी जांच भी करें। बच्चों और टीचर के बीच आपसी मधुर सम्बन्ध होना चाहिए तथा यह सम्बन्ध मानवीयता के साथ-साथ आपसी सौहार्द भी होना चाहिए, जिससे कि बच्चें अपनी बात अध्यापकों से और सम्बन्धित लोगो से कह सके। जर्जर विद्यालयों के भवन को चिन्हित करने हेतु मुख्य विकास अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करने का निर्देश दिया तथा जो आवश्यक हो उन विद्यालयों को मरम्मत किया जायेगा तथा जो खराब हैं उनके जगह पर नजदीक के विद्यालयों में या प्राइवेट भवनों में शिफ्ट किया जाये तथा प्रत्येक कक्षा के लिए अलग-अलग कक्ष हो तथा अधिकारियों एवं आम लोगो से विद्यालयों को गोद लेने का भी आह्वान किया।
      शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनन्द ने कहा कि मिशन प्रेरणा का उद्देश्य 2025 तक सभी बच्चों को बुनियादी शिक्षा देना है तथा प्रेरणा के उद्देश्यों को सभी क्लास रूमों में चस्पा करने की कार्यवाही किया जाये, इसकी नियमित समीक्षा हो तथा जो बच्चें क्लास में पीछे हैं उनको साथ लाने के लिए अध्यापक एवं शिक्षक समन्वय से कार्य करें। इससे बड़ा बदलाव होगा, निर्भिक होकर कार्यो को किया जाये, अच्छे कार्य करने वाले लोगो को पुरस्कृत किया जायेगा। सभी लोग दीक्षा ऐप को अपनाये और निष्ठा के प्रशिक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत सभी टीचरों को ट्रेनिंग अपै्रल माह तक पूरा कर लिया जाये। शासन के आदेशानुसार ग्राम पंचायतों के खण्ड से कायाकल्प के कार्यो को प्राथमिकता देते हुए 15 दिन में कार्य शुरू किये जायें, इसी प्रकार इसको एक अभियान के रूप में चलाया जाये, दिव्यांग बच्चों को भी मदद करें तथा मण्डल के जनपदो को इस क्षेत्र में आदर्श स्थापित करने हेतु आह्वान किया जाये साथ ही विद्यालयों के लाइब्र्रेरी के उपयोग हेतु प्रयोग करने हेतु विशेष कार्य करने हेतु आह्वान किया।
      मण्डलायुक्त एम0पी0 अग्रवाल ने सभी का स्वागत करते हुए कहा कि आपके जो मार्गदर्शन प्राप्त हुए हैं उससे हम अयोध्या मण्डल के जनपदों को एक प्रेरक माॅडल के रूप में विकसित करने हेतु कार्य करेंगे तथा हमारे जिलाधिकारी भी अपने-अपने जनपदों में एक-एक ब्लाक पर ध्यान देकर इस कार्य को आगे बढ़ायेंगे और निष्ठा की ट्रेनिंग आगामी 31 मार्च 2020 तक पूरी कर ली जायेगी तथा कायाकल्प योजना में विद्यालयों के विकास पर ग्राम पंचायत खण्ड का 450 करोड़ रूपया मार्च तक गुणतात्मक सुधार करते हुए प्राथमिकता के आधार पर व्यय किया जायेगा।



     जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कहा कि शिक्षा विभाग एक सर्विस विभाग है और बच्चें हमारे क्लाइंट हैं, हर बच्चें को सीखने की क्षमता अलग-अलग होतीे है, अतः हमें शिक्षा विभाग के लोगो को प्रत्येक बच्चों पर ध्यान देना होगा तथा बच्चों के कार्यो को चेक करते हुए उनकी अभिरूची, उनकी क्षमता आदि का आंकलन कर उनको बेहतर वातावरण देने के लिए भूमिका निभानी होगी, जो आप लोगो के मार्गदर्शन प्राप्त हुयें है उसको हम अयोध्या जनपद में पूरी क्षमता के साथ लागू करेंगे तथा कायाकल्प योजना के तहत भी अयोध्या जनपद में गुणात्मक सुधार हुआ है। विद्यालयों में और व्यवस्थाएं की जा रही है तथा सामुदायिक सहयोग हेतु प्रत्येक माह में प्रथम बुद्धवार को शिक्षा समिति की बैठक और प्रेरणा मिशन की कार्यो की समीक्षा की जायेगी तथा इस सम्बन्ध में ब्लाक के शिक्षकों एवं सम्बन्धित लोगो से चर्चा हुआ है कि इसके बेहतर परिणाम का सभी ने संकल्प दोहराया है।
गोष्ठी में जिलाधिकारी अयोध्या अनुज कुमार झा, जिलाधिकारी बाराबंकी डा0 आदर्श सिंह, जिलाधिकारी सुल्तानपुर सी0 इन्दुमती, जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर राकेश कुमार मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी अमेठी, मुख्य विकास अधिकारी बाराबंकी ने अपने-अपने जनपद में शिक्षा के क्षेत्र में उपलब्धियों व हो रहे कार्यो की जानकारी दी तथा अपने अनुभव को साझा किया।इस गोष्ठी में शिक्षा विभाग एवं शिक्षा प्रेमियों, गणमान्य नागरिकों आदि ने भाग लिया तथा शिक्षा विभाग के अधिकारी ने आभार व्यक्त किया।