मुख्यमंत्री आरोग्य मेले का आयोजन 
 


सभी विशेषकर समाज के अन्तिम पायदान पर खड़े लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं एवं सेवाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इन मेलों का आयोजन रविवार को प्रदेश भर में आयोजित ‘मुख्यमंत्री आरोग्य मेलां’ में कुल 5.02 लाख रोगी लाभान्वित, 12,345 गम्भीर रोगी उच्च चिकित्सालयों में रेफर तथा 36,439 गोल्डेन कार्ड वितरित प्रदेश भर में अब तक आयोजित 04 ‘मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों’ में कुल 17.1 लाख रोगी लाभान्वित तथा 55 हजार से अधिक गम्भीर रोगी उच्च चिकित्सालयों के लिए रेफर.

अब तक आयोजित इन मेलों के दौरान 1.31 लाख गोल्डेन कार्ड वितरित.

मुख्यमंत्री जनपद अयोध्या में ‘मुख्यमंत्री आरोग्य मेले’ में सम्मिलित हुए.

मुख्यमंत्री द्वारा वाराणसी में तीसरे आरोग्य मेले 

के दौरान फाइलेरिया के ‘एम0डी0ए0 कार्यक्रम’ का शुभारम्भ.

मुख्यमंत्री द्वारा लगातार इन आरोग्य मेलों का 

अनुश्रवण तथा इनके सम्बन्ध में आवश्यक दिशा-निर्देश.

मेले से सम्बन्धित कार्यकलापों व उपलब्धियों की तत्काल आॅनलाइन रिपोर्ट जनपदों में तैयार कर पोर्टल पर अपलोड की जा रही है.

प्रदेश के सभी ग्रामीण एवं नगरीय स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रत्येक रविवार को अन्तर्विभागीय समन्वय व सहयोग से प्रातः 10 से अपरान्ह् 02 बजे तक आरोग्य मेलों का आयोजन.


लखनऊ 23 फरवरी, उत्तर प्रदेश में 02 फरवरी, 2020 से प्रत्येक रविवार को प्रदेश के सभी ग्रामीण व शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर आयोजित ‘मुख्यमंत्री आरोग्य मेले’ के तहत आज 23 फरवरी, 2020 को चैथे आरोग्य मेलों का आयोजन किया गया। सभी विशेषकर समाज के अन्तिम पायदान पर खड़े लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं एवं सेवाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इन मेलों का आयोजन किया जा रहा है। आज चैथे रविवार को प्रदेश भर में आयोजित ‘मुख्यमंत्री आरोग्य मेले’ में कुल 5.02 लाख रोगी (1.7 लाख पुरुष, 2.4 लाख महिलाएं और 0.9 लाख बच्चे) लाभान्वित हुए। 12,345 गम्भीर रोगियों को उच्च चिकित्सालयों में रेफर किया गया तथा 36,439 गोल्डेन कार्ड वितरित किए गए। आरोग्य मेलों में कुल 10,741 चिकित्सकों, 41,524 पैरामेडिकल स्टाफ एवं 20,113 आंगनबाड़ी कार्यकत्र्रियों ने अपनी सेवाएं दीं। 

यह जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश भर में अब तक 04 बार आयोजित मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों में कुल 17.1 लाख रोगी लाभान्वित हुए तथा 55 हजार से अधिक गम्भीर रोगियों को उच्च चिकित्सालयों के लिए रेफर किया गया। इन मेलों के दौरान 1.31 लाख गोल्डेन कार्ड बनाए गए। प्रवक्ता के अनुसार विभिन्न आरोग्य मेला दिवसों में आंकड़ों को देखने से स्पष्ट हो रहा है कि स्वास्थ्य योजनाओं तथा उनकी उपलब्धता के प्रचार-प्रसार के कारण यह मेला जनता में निरन्तर लोकप्रिय हो रहा है। साथ ही, गोल्डेन कार्ड के वितरण की संख्या में भी लगातार वृद्धि हो रही है। 

 


प्रवक्ता ने बताया कि आज जनपद अयोध्या में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ‘मुख्यमंत्री आरोग्य मेले’ में सम्मिलित हुए। मेले का शुभारम्भ उन्होंने जनपद चन्दौली में 02 फरवरी, 2020 को किया था। आरोग्य मेले के दूसरे सप्ताह में गोरखपुर और तीसरे सप्ताह में मुख्यमंत्री जी ने वाराणसी जाकर मेले का शुभारम्भ किया था। वाराणसी में उन्होंने मेले के साथ फाइलेरिया के एम0डी0ए0 कार्यक्रम का भी शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री जी द्वारा लगातार इन मेलों का अनुश्रवण तथा इनके सम्बन्ध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं। 

प्रवक्ता ने कहा कि मेले का अनुश्रवण शासन तथा राज्य स्तरीय उच्च अधिकारियों द्वारा भी निरन्तर किया जा रहा है, जिसके क्रम में प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री अमित मोहन प्रसाद एवं महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं डाॅ0 ज्ञान प्रकाश द्वारा भी मेले का अनुश्रवण जनपद बाराबंकी एवं अयोध्या में किया गया। राज्य स्तर पर सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सुश्री वी0 हेकाली झिमोमी के नेतृत्व में महानिदेशालय के अधिकारियों के साथ महानिदेशालय में स्थापित कण्ट्रोल रूम से जनपदों के आॅनलाइन डाटा अपलोडिंग का अनुश्रवण किया जा रहा है। 

प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों के समुचित क्रियान्वयन की सुदृढ़ रणनीति बनायी गई है, जिसके तहत जिलाधिकारियों के नेतृत्व में सभी ग्रामीण व नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर मेलों के आयोजन का माइक्रो प्लान तैयार किया गया है। इसमें अन्तर्विभागीय समन्वय व सहयोग लिया गया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, महिला एवं बाल विकास तथा पुष्टाहार विभाग के साथ इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन के सहयोग से स्वास्थ्य विभाग के समस्त संसाधनों का उचित उपयोग करते हुए मेले का आयोजन किया जा रहा है। 

प्रवक्ता ने बताया कि मेले का अनुश्रवण वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा भी किया जा रहा है तथा मेले से सम्बन्धित कार्यकलापों व उपलब्धियों की तत्काल आॅनलाइन रिपोर्ट भी जनपदों में तैयार कर पोर्टल पर अपलोड की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग नोडल विभाग के रूप में इन रिपोर्टों का विश्लेषण एवं तद्नुसार कार्यवाही कर रहा है। इन रिपोर्टों का अनुश्रवण मुख्यमंत्री जी द्वारा भी किया जा रहा है। 

प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश के सभी ग्रामीण एवं नगरीय स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रत्येक रविवार को अन्तर्विभागीय समन्वय व सहयोग से प्रातः 10 से अपरान्ह् 02 बजे तक आरोग्य मेलों का आयोजन किया जा रहा है। इन मेलों में स्वास्थ्य परीक्षण, विभिन्न जांचों के साथ उपचार की सुविधा दी जा रही है। इसके अलावा, गम्भीर रोगियों को सरकारी एम्बुलेन्स से उच्चतर चिकित्सा केन्द्रों पर रेफर भी किया जा रहा है। मेलों में गोल्डेन कार्ड भी वितरित किए जा रहे हैं।