प्राथमिक विद्यालयों में पोषण वाटिका हेतु स्थान चिन्हित कर फलदार पौधे रोपित किये जायें: मुख्य सचिव





       पोषण अभियान के तहत किशोर लड़कियों, महिलाओं और बच्चों में एनीमिया की दरों में कमी लाने हेतु सार्थक प्रयास सुनिश्चित किये जायें,कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को जागरूक करने के लिये आंगनबाड़ी केन्द्रों परविभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जायें।
       लखनऊ 11 फरवरी, मुख्य सचिव ने कहा है कि पोषण अभियान के तहत किशोर लड़कियों, महिलाओं और बच्चों में एनीमिया की दरों में कमी लाने हेतु सार्थक प्रयास सुनिश्चित किये जायें। उन्होंने कहा कि कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को जागरूक करने के लिये आंगनबाड़ी केन्द्रों पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जायें। अभिभावकों को अपने आस-पास तथा खान-पान में स्वच्छता बनाये रखने हेतु भी जानकारी प्रदान की जाये।
       मुख्य सचिव आज लोक भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में पोषण अभियान के अन्तर्गत कन्वर्जेन्स समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्राथमिक विद्यालयों में पोषण वाटिका हेतु स्थान चिन्हित कर फलदार पेड़-पौधे जैसे-अमरूद, पपीता, अनार इत्यादि पौधे रोपित किये जायें। उन्होंने पंचायती राज विभाग को ग्राम पंचायत डेवलमेंट प्लान पर पोषण विषय सम्मिलित करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने पोषण मिशन के अन्तर्गत इनोवेशन प्रस्तावों को और व्यावहारिक तथा लाभार्थीपरक बनाने के निर्देश दिये।बैठक में प्रमुख सचिव बाल विकास एवं पुष्टाहार वीना कुमारी मीना एवं स्वास्थ्य, पंचायतीराज, बेसिक शिक्षा, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार, खाद्य रसद सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।