प्रमुख यातायात मार्गों तथा एक्सप्रेस-वे पर दुर्घटना बाहुल्य स्थानों को चिन्हित कर यातायात चिन्ह तथा रात्रि में समुचित प्रकाश की व्यवस्था की जाये सुनिश्चित: मुख्य सचिव


यातायात नियमों का पालन न कर सड़क पर अव्यवस्थित ढंग से वाहन चलाने वाले रोडवेज वाहन चालकों को व्यवहार परिवर्तन लाने हेतु प्रशिक्षित किया जाये।
सी0सी0टी0वी0 कैमरे के माध्यम से वाहन चालकों की गतिविधियों को कण्ट्रोल रूम से माॅनीटर कर
उन्हें एस0एम0एस0 के माध्यम से एलर्ट भेजने की व्यवस्था की जाये।
सड़क सुरक्षा के बारे में लोगों को और अधिक जागरूक करने के उद्देश्य से वर्ष में प्रत्येक त्रैमास पर सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जाये।
लखनऊ-बरेली-दिल्ली, लखनऊ-आगरा-दिल्ली वाया एक्सप्रेस-वे तथा लखनऊ-अयोध्या- गोरखपुर मार्ग पर 
सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने हेतु परिवहन विभाग की संचालित बसों में जी0पी0एस0 बेस्ड सी0सी0टी0वी0 सिस्टम दुर्घटना निरोध प्रणाली,स्लीप एलर्ट सिस्टम, कोलिजन वार्निंग सिस्टम स्थापित किये जायें।
सड़क पर ओवर स्पीड करने वाले वाहनों पर अंकुश लगाने हेतु सभी जनपदों में प्रवर्तन अधिकारियों को स्पीड गन रडार उपलब्ध कराये जायें।
परिवहन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा जनता के कार्यों को सम्पादित करते समय अधिक पारदर्शी व स्वच्छ कार्यशैली अपनाने के दृष्टिगत बाॅडी वार्न कैमरे से किया जाये लैस।


       लखनऊ 25 फरवरी, 2020, मुख्य सचिव ने निर्देश दिये हैं कि प्रमुख यातायात मार्गों तथा एक्सप्रेस-वे पर दुर्घटना बाहुल्य स्थानों को चिन्हित कर यातायात चिन्ह लगाये जायें तथा रात्रि में समुचित प्रकाश की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाये। यह भी कहा  यातायात नियमों का पालन न कर सड़क पर अव्यवस्थित ढंग से वाहन चलाने वाले रोडवेज वाहन चालकों को अपने व्यवहार परिवर्तन लाने हेतु प्रशिक्षित किया जाये। उन्होंने कहा कि प्रमुख मार्गों पर सी0सी0टी0वी0 कैमरे के माध्यम से वाहन चालकों की गतिविधियों को कण्ट्रोल रूम से माॅनीटर कर उन्हें एस0एम0एस0 के माध्यम से एलर्ट भेजने की व्यवस्था की जाये तथा इसका डाटाबेस भी बनाया जाये, ताकि पुनरावृत्ति करने पर लाइसेंस निरस्तीकरण की कार्यवाही की जा सके।
मुख्य सचिव आज लोक भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में कोष प्रबंधन समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा के बारे में लोगों को और अधिक जागरूक करने के उद्देश्य से वर्ष में प्रत्येक त्रैमास पर सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जाये। इस कार्य में परिवहन, गृह सहित सम्बन्धित सभी विभाग सहयोग करें। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता लाये जाने हेतु विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ-साथ सोशल मीडिया का भी प्रयोग किया जाये। उन्होंने विद्यार्थियों को सड़क सुरक्षा के नियमों की जानकारी दिये जाने हेतु प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में सड़क सुरक्षा सम्बन्धी कैलैण्डर व चार्ट लगाये जाने के भी निर्देश दिये।
       लखनऊ-बरेली-दिल्ली, लखनऊ-आगरा-दिल्ली वाया एक्सप्रेस-वे तथा लखनऊ-अयोध्या-गोरखपुर मार्ग पर सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने हेतु परिवहन विभाग की संचालित बसों में जी0पी0एस0 बेस्ड सी0सी0टी0वी0 सिसटम दुर्घटना निरोध प्रणाली, स्लीप एलर्ट सिस्टम, कोलिजन वार्निंग सिस्टम स्थापित किये जायें। उन्होंने कहा कि सड़क पर ओवर स्पीड करने वाले वाहनों पर अंकुश लगाने हेतु सभी जनपदों में प्रवर्तन अधिकारियों को स्पीड गन रडार उपलब्ध कराये जायें। परिवहन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा जनता के कार्यों को सम्पादित करते समय अधिक पारदर्शी व स्वच्छ कार्यशैली अपनाने के दृष्टिगत बाॅडी वार्न कैमरे के प्रस्ताव को भी अनुमोदित किया।  
        मुख्य सचिव ने कहा कि यह भी प्रयास सुनिश्चित किया जाये कि कामर्शियल वाहनों के मालिक के साथ-साथ वाहन चालक का भी डाटाबेस परिवहन विभाग के पास उपलब्ध हो, ताकि अन्यत्रित रूप से वाहन चलाने पर सी0सी0टी0वी0 के माध्यम से माॅनीटर करते समय सम्बन्धित वाहन चालक के विरुद्ध कार्यवाही की जा सके। उन्होंने कहा कि सभी चिकित्सालयों एवं स्वास्थ्य केन्द्रों में सड़क सुरक्षा सम्बन्धी डिस्पले बोर्ड व चार्ट लगाये जायें।बैठक में परिवहन आयुक्त श्री धीरज साहू ने बताया कि सड़क सुरक्षा के अंतर्गत किये जा रहे प्रयासों के कारण माह जुलाई, 2019 से माह जनवरी, 2020 तक की अवधि में गतवर्ष इसी अवधि की तुलना में सड़क दुर्घटनाओं में 5.4 प्रतिशत की तथा दुर्घटनाओं में मृतकों की संख्या में 4.4 प्रतिशत की कमी तथा माह जनवरी, 2020 में जनवरी, 2019 की तुलना में दुर्घटनाओं में 11.89 प्रतिशत व मृतकों की संख्या में 12.02 प्रतिशत की गिरावट आयी है। इस पर मुख्य सचिव ने इसमें और अधिक कमी लाये जाने के निर्देश दिए।बैठक में अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव परिवहन आर0के0सिंह, प्रबंध निदेशक यूपीएसआरटीसी  राजशेखर, सचिव लोक निर्माण समीर वर्मा सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।