उपवन में पंडित जी के एकात्म मानववाद से विचार और उनके आदर्शों का दर्शन: मुख्यमंत्री

    मुख्यमंत्री ने 39.75 करोड़ रु0 की लागत से जनपद चन्दौली में निर्मित किए जा रहे पं0 दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्थल उपवन का निरीक्षण किया.मुख्यमंत्री ने स्मृति स्थल में स्थापित किए गए वैदिक उद्यान, 

रिसर्च सेंटर, सांस्कृतिक आॅडिटोरियम, इंटरप्रेटेशन वाॅल को देखा. इस भू-भाग का नाम पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी से जुड़ने से इसका महत्व देश-दुनिया में और बढ़ेगा: मुख्यमंत्री 


 

      लखनऊ: 10 फरवरी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज वाराणसी जिला मुख्यालय से 10 कि0मी0 दूर पड़ाव चैराहे के निकट जनपद चन्दौली में 39.75 करोड़ रुपए की लागत से विकसित किए जा रहे पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्थल उपवन का निरीक्षण किया। उन्होंने स्मृति स्थल पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के जीवन दर्शन व सिद्धांतों पर केन्द्रित वैदिक उद्यान, रिसर्च सेंटर तथा सांस्कृतिक आॅडिटोरियम सहित इंटरप्रेटेशन वाॅल का भी अवलोकन किया। पड़ाव चैराहे का सुंदरीकरण कराते हुए स्मृति स्थल पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की 63 फीट ऊंची प्रतिमा लगायी गयी है। उपवन में पंडित जी के एकात्म मानववाद से सम्बन्धित विचार और उनके आदर्शों का दर्शन होगा। इसके अलावा, उपवन में वैदिक उद्यान की भी स्थापना की गयी है। वैदिक उद्यान में बड़ी संख्या में औषधीय पौधे लगाए गये हैं। इससे समाज के गरीबों को लाभ होगा और आयुर्वेद चिकित्सा को बढ़ावा मिलेगा। स्मृति स्थल पर ही सांस्कृतिक आॅडिटोरियम भी बनाया गया है। इसके निर्माण से पूर्वांचल के कलाकारों को अपनी कला का प्रदर्शन करने के लिए अब एक मंच मिल जाएगा।

     मुख्यमंत्री ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के प्रेरणा स्थल के रूप में इस स्थल को विकसित करने के प्रथम चरण का कार्य पूरा हुआ है। इस भू-भाग का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी से जुड़ने से इसका महत्व देश-दुनिया में और बढ़ेगा। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा आगामी दौरे में पं0 दीनदयाल उपाध्याय स्मृति उपवन को राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में अंत्योदय समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति तक शासन की योजनाएं पहुंचाई जा रही हैं।निरीक्षण के दौरान पर्यटन, संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ0 नीलकंठ तिवारी भी मौजूद थे।