2022 तक दोगुनी हो पाएगी किसानों की आय .......?

             


        बीते 28 फरवरी को किसानों की आय दोगुना करने के वादे का चौथा साल पूरा हुआ, 28 फरवरी 2016 को ही पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के बरेली में एक किसान रैली को संबोधित करते हुए आधिकारिक तौर पर घोषणा की थी कि आने वाले 2022 में जब देश अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा होगा, तो किसानों की आय दोगुनी हो चुकी होगी।
इस हिसाब से इस वादे को किए 4 वर्ष पूरा हो चुका है। देश की कृषि और देश का किसान आज भी टकटकी लगाए अपने हाथ में आए पैसों को देख रहा है। अब तो सरकार उसे यह बता दे कि उसकी आय की स्थिति क्या है। क्या सच में किसानों की आय बढ़ रही है। यदि बढ़ रही है तो किस दर से बढ़ रही है,और क्या यह संभव है कि वर्तमान कृषि विकास दर पर किसानों की आय दोगुना हो सकती है, क्या सुस्ती देख रही भारतीय अर्थव्यवस्था के बीच इस महत्वाकांक्षी लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है ऐसे तमाम सवाल हैं जो आज कहीं अधिक प्रासंगिक हो चुके हैं।
     इस पूरे वादे की हकीकत जानने से पहले आपको एक तथ्य बहुत स्पष्ट अपने दिमाग में रखना चाहिए कि सरकार के पास किसानों की आय में बढ़ोतरी या इससे संबंधित कोई स्पष्ट आंकड़े मौजूद नहीं।बीजेपी ने अपने संकल्प पत्र ;घोषणापत्र में किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया है। मोदी सरकार ने फरवरी 2016 में ही लक्ष्य रखा था कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी कर दी जाएगी, इसके लिए बाकायदा 13 अप्रैल 2016 को डबलिंग फार्मर्स इनकम कमेटी का गठन किया गया। आय बढ़ाने के लिए सरकार की कोशिश जारी हैण् इस बीच 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए भी पार्टी ने यही वादा दोहराया है, इससे पहले आय बढ़ने के दो दावे सामने आए हैं। एक में कहा गया है कि तीन साल में प्रतिमाह 1632ण्58 रुपये आय बढ़ी है तो दूसरी के मुताबिक चार साल में 2,505 रुपये प्रतिमाह की वृद्धि हुई है, सवाल ये है आखिर किसानों की आय दोगुना कैसे होगी।


       सवाल ये है कि आाखिर पिछले तीन साल में आय कितनी बढ़ी है। सांसदों के एक सवाल के जवाब में सरकार ने बताया है कि किसानों की इनकम पहले के मुकाबले बढ़ गई है, इनकम डबलिंग कमेटी के हवाले से कृषि मंत्रालय ने एक रिपोर्ट संसद में पेश की है पीएम नरेंद्र मोदी की ड्रीम योजनाओं में किसानों की आय दोगुनी करना भी रहा है। वह अक्सर इसका जिक्र करते हैं, ये चुनावी साल है इसलिए विपक्ष पूछ रहा है कि किसानों की आय कितनी हो गई। सांसद पिनाकी मिश्रा राहुल कस्वां और जोएस जॉर्ज ने संसद में इसी से जुड़ा सवाल पूछा जिसका जवाब कृषि व किसान कल्याण राज्य मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला ने दिया।