आखिर क्या होता है लॉक डाउन


       कोरोना वायरस के कारण दुनिया के कई देशों के बड़े-बड़े शहरों में लॉक डाउन जैसे हालात बन गए हैं। वहीं, दूसरी तरफ भारत में भी कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। देश अब तक करीब 250 से अधिक लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। कोरोना वायरस के कारण लोग अपने अपने घरों में कैद हो रहे हैं। मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले में कोरोना के 4 पॉजिटिव संक्रमित मिलने के बाद लॉक डॉउन की स्थिति है। आइए जानते हैं आख‍िर ये लॉक डाउन क्या है? इसका कानूनी प्रारूप क्या है।


लॉक डाउन से डरने की आवश्कता नहीं है


पहले तो हम आपको बता दें कि लॉक डाउन से आपको डरने की जरूरत नहीं है। यह आपकी सुविधा के लिए है। ताकि आप भी कोरोना वायरस से प्रभावित ना हो। लॉक डाउन आपकी सुरक्षा के लिए किया जा रहा है। आप भीड़-भाड़ वाले क्षेत्र से दूर रहें और खुद की सुरक्षा पर ध्यान दें।



क्या होता है लॉक डाउन
'लॉकडाउन' का सीधा सा मतलब होता है तालाबंदी। जिस तरह किसी संस्थान या फैक्ट्री को बंद किया जाता है तो वहां तालाबंदी हो जाती है। उसी तरह शहर लॉक डाउन का अर्थ है कि आप अनावश्यक कार्य के लिए सड़कों पर ना निकलें। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का अभी तक कोई पुख्ता इलाज सामने नहीं आया है। इससे बचने का एक ही रास्ता है कि आप खुद को संक्रमि‍त व्यक्ति से बचाव करें। देश में जिस तरह से लगातार संक्रमित व्यक्ति‍यों की तादाद बढ़ रही है उसे देखते हुए आप अन्य लोगों के संपर्क में नहीं आएं।दरअसल, लॉकडाउन एक एमरजेंसी व्यवस्था है जो किसी आपदा के वक्त शहर में सरकारी तौर पर लागू होती है। लॉक डाउन की स्थ‍िति में उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है। उन्हें सिर्फ दवा या अनाज जैसी जरूरी चीजों के लिए बाहर आने की इजाजत मिलती है। लेनदेन के लिए आप बैंक से पैसा निकालने के लिए भी जा सकते हैं।



क्यों लागू होता है लॉक डाउन?
किसी सोसायटी या शहर में रहने वाले वहां के स्थानीय लोगों को स्वास्थ्य या अन्य जोख‍िम से बचाव के लिए इसे लागू किया जाता है. इन दिनों कोरोना संक्रमण के मद्देनजर कई देशों में इसे अपनाया जा रहा हैये बातें भी ध्यान रखें...
1. किसी भी व्यक्ति को अपने घर से बाहर निकलने की इजाज़त नहीं होगी।
2. जिले की समस्त सीमाएं सील कर दी गई हैं।
3. जिले के समस्त शासकीय, अर्धशासकीय कार्यालय, बैंकिंग एवं वित्तीय संस्थान बंद रहेंगे।
4. विकट परिस्थिति से निपटने के लिये जनता से सहयोग की अपील की गई है।
5. मेडिकल दुकान और हॉस्पिटल को छोड़कर शेष समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद रहते हैं। केवल वही संस्थान ओपन रहते हैं जो जीवन के लिए आवश्यक हैं।