बाल विकास एवं पुष्टाहार मंत्रालय में 38 करोड़ के टेन्डर का हुआ बन्दर बाँट- अजय कुमार लल्लू

     आरोपी भ्रष्टाचारी मंत्री व अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही न करके उन्हें बचाने का प्रयास।योगी सरकार द्वारा जीरो टाॅलरेन्स का दावा खोखला, भ्रष्टाचार परत दर परत सामने आ रहे हैं.
 क्या मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा घोटालेबाज मंत्री व अधिकारियों के पोस्टर गली, मुहल्ले, चैराहों पर लगाये जायेंगे?


    -डा0 अनूप पटेल 
लखनऊ 17 मार्च, प्रदेश की भाजपा सरकार जीरो टाॅलरेन्स की बात करती है लेकिन भ्रष्टाचार परत दर परत सामने आ रहा है योगी सरकार के कार्यकाल में ऊर्जा मंत्रालय में ब्लैक लिस्टेड कंम्पनी डी0एच0एफ0एल0 द्धारा कर्मचारियों के भविष्य निधि का लगभग 2300 करोड़ रूपये का घोटला, होमगार्ड की ड्यूटी लगाने में सैकड़ो करोड़ रूपये का घोटाला, यमुना एक्सप्रेस वे के औद्योगिक विकास प्राधिकरण में 1000 करोड़ रूपये का घोटाला, पंचायत राज विभाग मंे कैग की रिपोर्ट के अनुसार 700 करोड़ रूपये का घोटाला, प्रदेश के दलित व पिछड़े वर्ग के छात्रों की छात्रवृत्ति में करोड़ों रूपये का घोटाला, प्रधानमंत्री जनविकास कार्यक्रम में बुन्देलखण्ड़ व विन्ध्य पैकेज के पेयजल पाइप योजना में ब्लैक लिस्टेड़ लैकफेड़ कम्पनी के द्वारा 18000 करोड़ रूपये तक की बन्दर बांट समेत अनेक घोटाले सामने आये हैं। इन घोटालों की लिस्ट में एक और घोटाला बाल विकास एवं पुष्टाहार मंत्रालय का जुड़ गया ह
     प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि योगी सरकार की मंत्री श्रीमती स्वाती सिंह के मंत्रालय में 38 करोड़ रूपये के टेन्ड़र की जमकर लूट हुई है। टेन्ड़र में नौनिहालों के लिए फर्नीचर की खरीद पर प्रत्येक जनपद को पचास लाख रूपये का ग्रान्ट केन्द्र सरकार ने दिया  था, जिसमें विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से करोड़ों रूपये का बन्दर बांट हो गयी। घोटाले के आरोपियों पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई हैै। बाल पुष्टाहार प्रदेश के बच्चों के शारीरिक,  मानसिक एवं शैक्षिक विकास से जुड़ा है। जनता की गाढी कमाई नौनिहालों पर खर्च न होकर घोटालों की भेंट चढ़ रही है।
प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी ने कहा कि भाजपा सरकार भ्रष्टाचार के आकण्ठ में डूबी हुई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टाॅलरेन्स की बात तो करते है लेकिन घोटालेबाज मंत्रियों व अधिकारियों पर कोई कार्यवाही न करके उन्हें बचाने का प्रयास करते हैं। क्या मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार भ्रष्टाचारी मंत्रियों व अधिकारियों के पोस्टर उत्तर प्रदेश के गली मुहल्ले व चैराहों पर भी चस्पा करवाने का काम करेगी? जनता की गाढी कमाई को लूटने वालों के बारे मंे जनता को जानने का हक है।