होली मिलन व हास्य कवि सम्मेलन का हुआ आयोजन

    - अब्दुल जब्बार व अनिल कुमार मिश्रा 


    भेलसर(अयोध्या)शीतला अष्टमी आंठव के उपलक्ष पर रूदौली के श्री हनुमान किला मंदिर कटरा में होली मिलन व हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन मंदिर के पुजारी श्री हरिओम तिवारी के संयोजन में संपन्न हुआ।
     सर्वप्रथम हनुमान जी की प्रतिमा के समक्ष उपस्थित सभी लोगों ने एक-दूसरे को गुलाल,अबीर,फूल व सुगंध से सराबोर कर दिया और भाव विह्वल होकर एक दूसरे से गले मिले और होली पर्व की बधाई दी। उसके बाद श्री हनुमान जी की भव्य आरती हुई।मंदिर में विराजमान श्री हनुमान जी की प्रतिमा का भव्य श्रृंगार किया गया जो भक्तों में श्रद्धा व आकर्षण का विषय रहा।कोरोना वायरस के डर से बड़ी ही सतर्कता बरती गई।उपस्थित लोगों ने श्री हनुमान जी एवं मंदिर में विराजमान शंकर,पार्वती,गणेश जी की वंदना कर भारत देश को वायरस से मुक्त रखने की प्रार्थना की।होली मिलन व भव्य आरती के बाद नगर के वरिष्ठ कवि सत्यदेव गुप्ता"सत्य"की अध्यक्षता में व राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित कवि देवेंद्र चरन खरे के संचालन में एक हास्य कवि सम्मेलन भी संपन्न हुआ।जिसका शुभारंभ मंदिर के पुजारी हरिओम मिश्रा द्वारा मां सरस्वती प्रतिमा के समक्ष दीप जलाकर किया गया। वीणा पाणी मां सरस्वती की वंदना चंदा लाल राही ने करते हुए कहा कि मैं अपने गीत लाया हूं मैं अपना राग लाया हूं।हृदय की झोलियो में भटके मैं अनुराग लाया हूं।सत्यदेव गुप्त"सत्य"ने अपनी रचना पढ़ते हुए कहा कि गुजरते लम्हों में सदियां तलाश करता हूं बहुत मैं प्यासा हूं नदियां तलाश करता हूं।कार्यक्रम का संचालन कर रहे देवेंद्र चरण खरे"आलोक"ने अपनी रचना के माध्यम से कोरोना का डर के बारे में कहा कि  गांव-गांव ठाव,देश व विदेश छाया,कोरोना का कहर है इस बार होली में फैला है गुबार,ज्वार वायरस खौफ रस,मास्क और सेनिटाइजर वार"।