कोविड-19 के कारण देश व प्रदेश को काफी आर्थिक क्षति हुई-अनुज कुमार झा


      अयोध्या 31 मार्च, संकट की इस घड़ी में राजस्व विभाग सहित विकास विभाग, लोक निर्माण विभाग, सिचाई, नलकूप, समाज कल्याण, पशुपालन, चिकित्सा विभाग, तहसील प्रशासन के अधिकारी एवं कर्मचारी, वेसिक एवं इन्टर कालेजो के अध्यापकगण सभी अपने प्रदेश के साथ खड़े है। सभी ने एक स्वर में स्वेच्छा से अपना एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता कोष में जमा करेंगे। जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि अधिकारी, कर्मचारी एवं शिक्षको के कई संघ के पदाधिकारी व्यक्तिगत रूप से मुझसे मिलकर स्वेच्छा से अपना एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता कोष में जमा करने की इच्छा जताई है। संघ से इतर कुछ अधिकारी एव कर्मचारी व्यक्तिगत रूप से मिलकर अपना एक दिन का वेतन सहायता के रूप में जमा कराने की इच्छा व्यक्त कर चुके है। जिला मजिस्ट्रेट ने आगे बताया कि कोरोनावायरस कोविड-19 के कारण देश व प्रदेश को काफी आर्थिक क्षति हुई है। गरीब असहाय दैनिक मजदूरी कर अपने परिवार का जिकोपार्जन करने वाले दिहाड़ी मजदूरों श्रमिकों को तात्कालिक  आर्थिक सहायता केंद्र व राज्य सरकार अपने स्तर से प्रदान कर रही हैं। प्रशासनिक व्यवस्थाओं के साथ अन्य राज्यों से आने वाले इस प्रदेश के कामगार को उनके गांव भेजने की निशुल्क व्यवस्था भी प्रदेश की सरकार कर रही है, ऐसे में राज्य सरकार पर वित्तीय बोझ लगातार बढ़ता जा रहा है ,साथ ही संभावित संक्रमित व्यक्तियों का निशुल्क परीक्षण व इलाज की व्यवस्था के साथ उनके रुकने एवं खाने-पीने की व्यवस्था की जा रही है ऐसे में सभी का दायित्व है कि राज्य सरकार के इस प्रयासो में अपना योगदान दे।

    जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार झा ने सभी स्वंय सेवी संगठनों, विभिन्न एसोसिएसन व संघो, छोटी-छोटी इकाइयों से अपील की है कि इस संकट की घड़ी में अपने प्रदेश व सरकार के साथ कदम से कदम मिलते हुए मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता कोष में धनराशि जमा कराए।  जिला मजिस्ट्रेट ने सभी से अपील की है सहायता राशि का एक बैंक ड्राफ्ट  मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता कोष के नाम बनवाकर  मुख्य राजस्व् अधिकारी के पास जमा कर सकते है जिसे एकत्र कर एक साथ मुख्यमंत्री को सौपा जायेगा।