कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु बॉर्डर सील -अनुज कुमार झा


   अयोध्या 25 मार्च, कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव हेतु जनपद में आने वाले सभी बाहरी व्यक्तियों की सतत् निगरानी तथा क्षेत्र में सतर्क दृष्टि रखने के उद्देश्य से जिलाधिकारी अनुज कुमार झा व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने बीट आरक्षियों को राजस्व कर्मियों/लेखपालों के साथ संयुक्त रूप से ड्यूटी लगाई।
       अधिकारी द्वय ने समस्त बीट आरक्षियों को संबंधित राजस्व कर्मी/लेखपाल के साथ समन्वय स्थापित कर अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण शील रहने तथा बाहर/विदेश से आने वाले व्यक्तियों तथा जिसमें कोरोना के लक्षण यथा- सर्दी, खांसी, जुखाम, हल्का बुखार, सांस लेने में परेशानी आदि लक्षण पाए जाते हैं तो ऐसे व्यक्तियों के बारे में प्रतिदिन सूचना कंट्रोल रूम के नंबर 7081670802, 757080131 7570800193, 8795298586, 9453116001 व 9919805362 पर देना सुनिश्चित करने तथा ऐसे व्यक्तियों की सूची भी तैयार करने के निर्देश दिय है।  उन्होंने सभी टीमों को क्षेत्र में रहने वाले व्यक्तियों पर सतत् निगरानी करते हुए शांति व्यवस्था बनाए रखना भी सुनिश्चित करेगी और कोरोना से बचाव के बारे में ग्राम प्रधान पंचायत सचिव एवं कोटेदार आदि के साथ जागरूकता फैलाने के भी निर्देश दिए है।ं जिलाधिकारी ने सभी आवश्यक वस्तुओं यथा राशन दवाइयों की होम डिलीवरी हेतु आदेशों का अनुपालन कराने तथा अनुपालन न करने वालों पर कार्रवाई हेतु अविलंब सुसंगत धाराओं में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराकर आख्या उपलब्ध कराएंगे। इसके साथ-साथ अपर जिला मजिस्ट्रेट वित्त एवं राजस्व 9454417612, मंडी सचिव अयोध्या 8765956859, मंडी सचिव रुदौली 8765956860, एमडी पी पीडीएफ, दुग्ध 9897966201 से वार्ता कर अपने क्षेत्र में सब्जी दूध आदि की होम डिलीवरी होते शीघ्र आवश्यक कार्यवाही करेंगे।
मण्डलीय सूचना कार्यालय अयोध्या पी0-4

   अनुज कुमार झा, जिलाधिकारी अयोध्या द्वारा बताया गया कि अत्याचारों से उत्पीड़ित अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के व्यक्तियों को आर्थिंक सहायता दिये जाने की व्यवस्था के अन्तर्गत जनपद में अनुसूचित जाति के व्यक्तियों के साथ मारपीट, छेड़छाड़ व हत्या के कुल 93 प्रकरणों में शासन द्वारा अनुमन्य कुल सहायता रू0 75,87,500-00 दिये जाने की स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है और शीघ्र ही समस्त पीड़ित व्यक्तियों के बैंक खातों में स्वीकृत धनराशि सीधे पे्रषित कर दी जायेगी।