लॉक डाउन के दौरान निजी चिकित्सालयों को खोलने हेतु चिकित्सालय के प्रबन्धकों को निर्देश: जिलाधिकारी


अयोध्या 31 मार्च, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि जनपद में अब तक कुल 2690 बेसहारा, गरीब, असहाय, लोगों को एक 1000-1000 रू0 के दर से कुल 26 लाख 90 हजार की धनराशि उनके खाते में भेज दी गई है। उन्होंने आगे बताया कि नगर निगम अयोध्या के 317, नगर पंचायत रूदौली के 21 भदरसा के 11बीकापुर एवम गोसाईगंज के 15-15 तथा ग्रामीण क्षेत्रों के 1311 बेसहारा गरीब एवं असहाय लोग सम्मिलित है। नगर निगम अयोध्या में नगर आयुक्त, नगर पंचायत रूदौली, बीकापुर, गोसाईगंज, भदरसा के अधिशासी अधिकारी तथा ग्रामीण क्षेत्र में मुख्य विकास अधिकारी द्वारा संबंधित के खातों में धनराशि भेज दी गई है। उन्होंने आगे बताया कि इसके अतिरिक्त श्रम विभाग के 7893 पंजीकृत श्रमिकों के खाते में भी आर्थिक सहायता राशि भेजी जा चुकी है


 जिलाधिकारी ने बताया कि भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना वायरस कोविड-19 के रोकथाम तथा उत्तर प्रदेश शासन, चिकित्सा अनुभाग-5, लखनऊ द्वारा संख्या-548/पांच-5-2020 दिनांक रू 14 मार्च, 2020 द्वारा जारी अधिसूचना के क्रम में कोरोना कोविड-19 वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सभावित भीड़-भाड़ को नियंत्रित करने के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं। इसका व्यापक प्रचार-प्रसार हो एवं इसका मीडिया द्वारा कवरेंज किया जाय जिससे जन सामान्य तक वास्तविक स्थिति पहुँच सके। इस हेतु न्यूज चैनल प्रिंट मीडिया/विजुअल मीडिया के अधिकृत मान्यता प्राप्त मीडिया कर्मी इस लॉकडाउन के प्रतिबन्ध से मुक्त रहेगें। सभी अधिकृत मान्यता प्राप्त मीडिया कर्मी अपने साथ अपने चैनल का आई0डी0 कार्ड अधिकारिता पत्र  परिचय पत्र लेकर ही मीडिया कवरेज करेगें। यह आदेश तत्काल प्रभाव से अग्रिम आदेशों तक लागू होगा।, परंतु कवरेज करते समय सोसल डिस्टनसिंग बनाये रखे मास्क व सैनिटाइजर का प्रयोग करे, नियमित रूप से साबुन से हाथ धोये। कोई परेशानी हो तो उप निदेशक सूचना से संपर्क कर सकते है उन्होंने उप निदेशक, सूचना को पत्रकारों के साथ समन्वय बनाने के निर्देश दिए है जिनका मो0 न 9453005405 व 7080510637, 9450333825 है।

-जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार झा ने बताया कि 12 मार्च 2020 के बाद जो भी व्यक्ति विदेश से आए है वे इसकी सूचना तत्काल कन्ट्रोल रूम के मोबाइल नं0 7081670802, 9453116001, पर दे यदि विदेश से आये हुए व्यक्ति द्वारा अपनी सूचना नही दी जाती है और छिपाई जाती है या अन्य व्यक्ति संक्रमण का शिकार होता है तो उसके खिलाफ प्रथम सूचना रिर्पोट दर्ज कर सख्त विधिक कार्यवाही की जाएगी।



    -जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने लॉक डाउन के दौरान जनपद में निजी चिकित्सालयों को खोलने के संबंध में बताया कि कोरोना वायरस (कोविड-19)  के संक्रमण के समय में चिकित्सकों के द्वारा सराहनीय कार्य किया जा रहा है। इस विपरीत समय में समाज के हर वर्ग की जिम्मेदारी है कि वह अपेक्षित सहयोग करे। किन्तु यह शिकायत प्राप्त हो रही है कि कुछ निजी चिकित्सालयों द्वारा अपने चिकित्सालय या तो इस समय बन्द कर दिये गये हैं या उनके द्वारा अधिकांश मरीजों को देखा ही नहीं जा रहा है। जिसके क्रम में जिलाधिकारी ने लॉक डाउन के दौरान निजी चिकित्सालयों को खोलने हेतु चिकित्सालय के प्रबन्धकों को निर्देशित किया है कि वे चिकित्सा एवं उपचार हेतु प्रयोग में आने वाले उपकरण को क्रियाशील रखें, चिकित्सकों/पैरामेडिकल स्टाफ की एक निश्चित अवधि के लिए उपस्थिति सुनिश्चित करें तथा दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता बनाये रखें।
     उन्होंने निजी चिकित्सालयों के प्रतिनिधियों से कहा है कि सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए ही मरीजों को देखें। चिकित्सालयों में समुचित चिकित्सा सेवा सुनिश्चित करने हेतु  का सहयोग भी प्राप्त किया जाए। उन्होंने कहा कि यदि कोई चिकित्सालय उपरोक्त निर्देशों का पालन नहीं करता है तो समुचित प्रावधानों के अन्तर्गत उनके विरूद्ध कार्यवाही भी की जाएगी। जिला मजिस्ट्रेट ने उक्त निर्देशों पर तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।