मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य भवन परिसर में स्थित‘राज्य संक्रामक रोग नियंत्रण कक्ष’ का निरीक्षण किया

मुख्यमंत्री ने कण्ट्रोल रूम की आवश्यकतानुसार मानव एवं तकनीकी संसाधन बढ़ाने के निर्देश दिये,लोगों की सहायता के लिये कण्ट्रोल रूम हेल्पलाइन नं0-18001805145 कार्यशील.

 

   कण्ट्रोल रूम द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिये निरंतर (24ग्7) माॅनीटरिंग की जा रही है।राज्य में केन्द्र सरकार द्वारा कोरोना के सम्बन्ध में जारी एडवाइजरी पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है,प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिये सभी तैयारियां कीं।मुख्यमंत्री ने महामारियों से प्रभावी ढंग से निपटने हेतु अत्याधुनिक उपकरणों से लैस एक स्थायी और विस्तृत ‘स्टेट आॅफ दि आर्ट’ कण्ट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिये।


 

   लखनऊ 16 मार्च,  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज यहां ‘स्वास्थ्य भवन’ परिसर में स्थित ‘राज्य संक्रामक रोग नियंत्रण कक्ष’ का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस कण्ट्रोल रूम के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिये निरंतर (24ग्7) माॅनीटरिंग की जा रही है। इस कार्य में लगी सर्विलांस टीम स्थिति की लगातार निगरानी कर रही है और स्थापित की गयी हेल्पलाइन के माध्यम से लोगों को कोरोना के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारी देने के साथ-साथ जागरूक भी कर रही है। राज्य में अभी कोरोना सेकेण्ड स्टेज में है, इसकी विस्तृत समीक्षा 20 मार्च को की जायेगी और आवश्यक निर्णय लिये जायेंगे। साथ ही, राज्य में केन्द्र सरकार द्वारा कोरोना के सम्बन्ध में जारी एडवाइजरी पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है।इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने सम्बन्धित अधिकारियों को एक स्थायी और विस्तृत ‘स्टेट आॅफ दि आर्ट’ कण्ट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इस कण्ट्रोल रूम में अत्याधुनिक उपकरण स्थापित किये जायें, ताकि महामारियों से प्रभावी ढंग से निपटा जा सके और इन्हें नियंत्रित किया जा सके। उन्होंने कण्ट्रोल रूम में आवश्यकतानुसार मानव एवं तकनीकी संसाधन बढ़ाने के भी निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि लोगों की सहायता के लिये कण्ट्रोल रूम हेल्पलाइन नं0-18001805145 कार्यशील है।


    मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस से निपटने के लिये सभी तैयारियां की जा चुकी हैं। सभी जिला अस्पतालों और मेडिकल काॅलेजों में आइसोलेशन वाॅर्ड की स्थापना की गयी है, ताकि कोरोना से प्रभावित मरीज को उचित इलाज मुहैया कराया जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रचार-प्रसार के माध्यम से कोरोना वायरस के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी जनता को दी जा रही है। पूरे प्रदेश में जगह-जगह पर पोस्टर लगाकर लोगों को कोरोना वायरस के सम्बन्ध में जागरूक किया जा रहा है। इसके लक्षणों, इसके उपचार तथा ‘डूज और डोंट्स’ के विषय में जानकारी दी जा रही है। राज्य सरकार कोरोना वायरस की स्थिति की लगातार समीक्षा कर रही है। इसी क्रम में प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के शिक्षण संस्थानों को 22 मार्च तक बन्द किये जाने का निर्णय लिया गया है।
   मुख्यमंत्री जी ने कोरोना वायरस से निपटने के लिये जनसहयोग की अपेक्षा की। उन्होंने बाजार मंे मास्क तथा सैनेटाइजर जैसी आवश्यक वस्तुओं की जमाखोरी और कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश वरिष्ठ अधिकारियों को दिये।निरीक्षण के दौरान चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री  जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव  राजेन्द्र कुमार तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री विजय विश्वास पंत सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।