पटरंगा रेलवे स्टेशन पर फंसे 22 मजदूरों को एसडीएम ने सोनभद्र भेजवाया

    - अब्दुल जब्बार व अनिल कुमार मिश्रा 


पटरंगा रेलवे स्टेशन पर फंसे 22 मजदूरों को शोसल मीडिया पर शिकायत के बाद एसडीएम ने सोनभद्र भेजवाया.


    भेलसर(अयोध्या)जिलाधिकारी को सोशल मीडिया पर सोनभद्र के 22 मजदूरों के पटरंगा रेलवे स्टेशन पर फंसे होने की सूचना पर उपजिलाधिकारी ने मजदूरों को सोनभद्र भिजवाने की व्यवस्था करवाई।
जानकारी के अनुसार उत्तर रेलवे के पटरंगा रेलवे स्टेशन पर सिविल कार्य का निर्माण चल रहा है।ठेकेदार जेपी सिंह ने गुरुवार की सुबह वाट्सएप पर जिलाधिकारी को निर्माण कार्य करने वाले लगभग दो दर्जन मजदूरो के लगभग एक सप्ताह से फंसे होने की शिकायत की।लिखे पत्र में कहा कि पटरंगा रेलवे स्टेशन पर बीसीएम कार्य हो रहा है।कोरोना बन्दी की वजह से कोई कार्य नही हो पा रहा है।लेबर पटरंगा रेलवे स्टेशन फैजाबाद एवं प्रतापगढ़ रेलवे स्टेशन पर बिना खाए पिए एक सप्ताह से पड़ी हुई है न तो उनको खोराकी पहुंच पा रही है न तो रेल से कोई भुगतान किया जा रहा है।समस्त लेबर सोनभद्र से आई हुई है इनको घर भिजवाने के लिए कोई ट्रेन बस भी उपलब्ध नहीं है न तो इनको खाने पीने के लिए कोई सामान मिल पा रहा है न तो इनके पास कोई पैसे है।लेबर को सोनभद्र भिजवाने के लिए कर्फ्यू पास एवं साधन मुहैया कराया जाए।एसडीएम विपिन सिंह ने बताया जिलाधिकारी को की गई शिकायत पर मौके पर गए थे।पटरंगा रेलवे स्टेशन पर 22 मजदूर मिले थे।थाना प्रभारी पटरंगा को मजदूरों को भेजवाने के लिए वाहन मुहैया करने और मजदूरों को वाहन पर बिठाकर सोनभद्र के लिए रवाना कर दिया गया।ठेकेदार जीपी सिंह ने सोशल मीडिया पर की गई शिकायत पर जिलाधिकारी अयोध्या  और उपजिलाधिकारी रुदौली को मजदूरों को सोनभद्र भिजवाने के लिए पास जारी करने के लिए प्रसन्नता जताई।