सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रुदौली व मवई में इमरजेंसी में मरीज को कोरोना से बचाव के लिए कोई इंतिजाम का अभाव

    - अब्दुल जब्बार 


   सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रुदौली व मवई में इमरजेंसी में आने वाले मरीज और तीमारदारों को कोरोना से बचाव के लिए कोई इंतिजाम नही।


   भेलसर(अयोध्या)सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रुदौली व मवई में इमरजेंसी में आने वाले मरीज और तीमारदारों को कोरोना से बचाव के लिए कोई इंतिजाम नही है। मरीजो और तीमारदारों के सेनेटाइज के लिए इंतिजाम न होने से अस्पताल के कर्मियों में नाराजगी है।
    मालूम को कि सीएचसी रुदौली और मवई में इमरजेंसी के अलावा जच्चा बच्चा प्रसव कराया जा रहा है।इमरजेंसी में चिकित्सक,फार्मशिस्ट,वार्ड व्याय,वार्ड आया,पैथालोजी सहायक,चौकीदार,एम्बुलेंस चालक,एम्युलेन्स सहायक की तैनाती है।जच्चा बच्चा केंद्र में स्टाफ नर्स,एएनएम,वार्ड आया की तैनाती की गई है। इमरजेंसी मरीज और जच्चा बच्चा केंद्र में प्रसव के मरीज के साथ दो से तीन तीमारदार रहते है। इनके सेनेटाइजेशन के लिए अस्पताल के बाहर साबुन और पानी की व्यवस्था नही की गई।सीएचसी मवई के एक कर्मी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि चिकित्सक से नीचे के स्टाफ को सर्जिकल मास्क दिए जा रहे है।जो वायरस के बचाव के लिए नाकाफी है।वही चिकिसक अच्छे मास्क का प्रयोग कर रहे है।अस्पताल के मुख्य गेट पर एक बाल्टी पानी और साबुन की व्यस्था नही है।बिना एहतियात बरते और सेनिटीइज हुए मेरीज और तीमारदारों की भीड़ आ रही है।जिससे संक्रमण होने का खतरा है।सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रुदौली अपनी बहू को लेकर गए बनमउ निवासी वीरेंद्र शर्मा ने बतायाकि अस्पताल में मरीज और तोमरदारो के सेनिटाइजेशन का इंतिजाम नही है।सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रुदौली के चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 पीके गुप्ता ने बताया कि सभी चिकित्सको के लिए सर्जिकल मास्क उपलब्ध है।कर्मचारियों के लिए सेनिटाइजर भी उपलब्ध है।फार्मासिस्ट को स्टाफ के लिये 100 और मास्क लाने के लिए जिला मुख्यालय पर भेजा गया है।