‘‘समाजवादी राहत पैकेट‘‘ को बांटने का निर्देश दे सरकार -अखिलेश यादव


    समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि कोरोना वायरस की महामारी की वजह से देश में अचानक से लाॅकडाउन लागू है। प्रदेश की सड़कों पर लाखों लोग भूंखे-प्यांसे हैं। आपूर्ति संकट से जनता परेशान है। इन हालात में सत्तादल की जिम्मेदारी जहां ज्यादा है वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्य विपक्षी दल के रूप में समाजवादी पार्टी जनता के दुःखदर्दो के प्रति पूर्णतयः संवेदनशील है और गरीबों, असहायों की मदद में इसके वरिष्ठ नेता, सांसद, विधायक तथा कार्यकर्ता दिनरात सक्रिय हैं। उन्होंने अपना आर्थिक सहयोग भी दिया है।
            अचानक पलायन की भारी भीड़ और गरीबों की मुसीबतों को देखते हुए हमारा सुझाव है कि भाजपा सरकार समाजवादी सरकार के समय भोजन के लिए वितरित किये गये ‘‘समाजवादी राहत पैकेट‘‘ को बांटने का निर्देश जिलाधिकारियों को जारी करें जिसके नियम भी बने हुए है, चाहे तो नाम बदल दें। सभी खड़ी ट्रेनों को अगले कुछ दिनों के लिए अस्थायी रैन बसेरों में तब्दील कर दें। जो पैदल दूरी तय कर रहे हैं ऐसे लोगों को इन्हीं में रोक कर इनके रहने खाने का इंतजाम किया जाए।
     जो यात्री रास्ते में फंसे है उनको तत्काल घर पहुंचाने की व्यवस्था हो समाजवादी पेंशन, मनरेगा, किसान सम्मान राशि के पंजीकृत खातों में तुरन्त पैसा जमा करायें। बैंक प्रतिनिधियों को सुरक्षा देकर घर-घर पैसा पहुंचाने की व्यवस्था हो। मोबाइल दुकानों से राशन का वितरण हो। गुजरात में ईंट-भट्ठे के मजदूर फंस गए हैं उन पर ध्यान दें।