वन एवं वन्यजीव विभाग में लागू कैश साख सीमा (सी0सी0एल0) प्रणाली को समाप्त कर अन्य विभागों की भांति सामान्य कोषागार प्रणाली लागू
      लखनऊ 13 मार्च, मंत्रिपरिषद ने वन एवं वन्यजीव विभाग में लागू कैश साख सीमा (सी0सी0एल0) प्रणाली को समाप्त कर अन्य विभागों की भांति सामान्य कोषागार प्रणाली लागू करने का निर्णय लिया है। यह निर्णय वन एवं वन्यजीव विभाग में विभागीय लेन-देनों व लेखों की शुद्धता, पारदर्शिता व एकरूपता सुनिश्चित करने के लिए लिया गया है।
    इसके तहत मंत्रिपरिषद द्वारा वन एवं वन्यजीव विभाग में वित्तीय वर्ष 2020-21 (दिनांक 01-04-2020 से) सभी मदों हेतु सी0सी0एल0 प्रणाली को सामाप्त कर इसके स्थान पर अन्य विभागों में प्रचलित आॅनलाइन बजट आवंटन व कम्प्यूटरीकृत कोषागार प्रणाली को लागू करने का फैसला लिया गया है।यह निर्णय भी लिया गया है कि सी0सी0एल0 के स्थान पर बजट आवंटन के अन्तर्गत सम्बन्धित प्रभाग के आहरण वितरण अधिकारी द्वारा कोषागार की आॅनलाइन प्रणाली से बिल जनरेट कर कोषागारों को पारण हेतु प्रस्तुत किये जाये। बिल पारण, लेखा संकलन व लेखा मिलान की वही प्रक्रिया अपनायी जाय, जो कोषागार प्रणाली से आच्छादित अन्य विभागों में अपनायी जाती है।
यह फैसला भी लिया गया है कि वन एवं वन्यजीव विभाग के प्रभागों द्वारा सी0सी0एल0 प्रणाली के अन्तर्गत मासिक लेखे तैयार कर सीधे महालेखाकार कार्यालय को प्रेषित करने की व्यवस्था समाप्त कर दी जाए। इसके स्थान पर विभाग के मासिक लेखे अन्य विभागों की भांति कोषागार प्रणाली के अन्तर्गत तैयार कर कोषागारों द्वारा महालेखाकार को प्रेषित किए जाएं। वन एवं वन्यजीव विभाग में जमा साख सीमा (डिपाजिट क्रेडिट लिमिट) की वर्तमान प्रक्रिया में कोई परिवर्तन न करते हुए इसे पूर्ववत बनाये रखने का निर्णय भी लिया गया है।