वीरांगना रानी अवंती बाई लोधी का शहीदी दिवस


   समाजवादी पार्टी कार्यालय, लखनऊ में आज 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली वीरांगना रानी अवंती बाई लोधी का शहीदी दिवस श्रद्धा से मनाया गया। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने रानी अवंती बाई के चित्र पर माल्यार्पण कर उनको भावांजलि दी।
      अखिलेश यादव ने कहा कि मध्य प्रदेश, रामगढ़ की रानी अवंती बाई लोधी ने भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। अंगे्रजों ने जब भारत में कई जगहों पर अपने पैर जमा लिए थे, रानी अवंती बाई ने उनके विरूद्ध निर्णायक गोरिल्ला युद्ध किया था। उन्होंने कहा कि अंग्रेजो की हड़प नीति को पहचान कर रानी अवंती बाई ने पास पड़ोस के राजाओं, परगनादारों, जमींदारों तथा बड़े मालगुजारों का रामगढ़ में विशाल सम्मेलन कर अंग्रेजों के विरूद्ध युद्ध में उनका समर्थन प्राप्त किया था।
      श्री यादव ने कहा कि रानी अवंती बाई के रणकौशल के चलते एक समय मंडला जिला एवं रामगढ़ राज्य स्वतंत्र हो चुका था। रानी का आह्वान था कि लोग अंग्रेजों से संघर्ष के लिए तैयार रहें या फिर चूड़िया पहनकर घर बैंठे। उनके पुरूषार्थ से पूरे महाकौशल क्षेत्र में विद्रोह की ज्वाला भड़क उठी थी। उन्होंने कहा रानी अवंती बाई लोधी के जीवन से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए।