विदेश से लौटा तो न पैसे हाथ लगे न पत्नी ही मिली


   - अब्दुल जब्बार 


जिस बूढ़ी मां खुद भूखी रहकर पुत्र का पेट भर्ती वही पुत्र ने मां की कर दी हत्या


भेलसर(अयोध्या)मवई थाना क्षेत्र के ग्राम तालगांव में रमेश नाम के जिस युवक ने अपनी मां की पीट पीट कर व गाला दबा कर हत्या की है वह करीब तीन साल सऊदी अरब में रहकर एक साल पूर्व ही अपने घर आया था।जब वह घर आया तो उसके आने के कुछ ही दिन बाद उसकी पत्नी सिलोचना उसको छोड़कर अपने मायके चली गयी साथ ही विदेश में रहकर वह जितना पैसा कमाता था वह सब अपनी पत्नी को ही भेज देता था घर आने के बाद जब उसकी पत्नी उसको छोड़ कर चली गयी तो उसका दिल बिल्कुल टूट चुका था।ग्रामीणों के मुताबिक उसका मानसिक संतुलन भी बिगड़ गया।उसका एक बड़ा भाई मैकू गुजरात मे रहकर मजदूरी करता था घर पर सिर्फ उसका भांजा सत्यम 12 वर्ष ही रहता था।रमेश की आर्थिक स्थिति बेहद खराब थी।ग्रामीणों के मुताबिक उसकी मां रजकला मोहल्ले में मांग मांग कर अपने लड़के रमेश तथा नाती सत्यम का पेट भर्ती थी।रजकला के पति वंतीलाल का करीब 15 वर्ष पूर्व ही निधन हो गया था।अपने दोनों लड़कों को किसी तरह पालन पोषण करके बड़ा किया।एक लड़का  मजदूरी करने गुजरात चला गया दूसरा लड़का रमेश को किसी तरह पैसे की व्यवस्था करके यह सोंच कर विदेश भेजवा दिया कि अब शायद मेरे भी दिन बहुर जायेंगे।लेकिन हुआ उल्टा अपनी तीन साल की विदेश की कमाई मां को न देकर अपनी पत्नी को दे दिया जब वापस घर आये तो पत्नी भी छोड़कर चली गयी अब न उसके पास पैसा बचा न ही पत्नी मिली।यहीं से उसका दिल टूट गया और मानसिक संतुलन भी बिगड़ गया।आखिर में उसने अपनी ही मां की हत्या कर दी।