आढ़तिया या बिचैलिए से गेहूं क्रय पर होगी सख्त कार्रवाई-जिलाधिकारी


किसी गेहूं क्रय केंद्र के प्रभारी ने आढ़तिया या बिचैलिए से गेहूं क्रय किया तो उसके खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई-जिलाधिकारी।
      अयोध्या,  जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व गोरे लाल शुक्ला, डिप्टी आरएमओ चामुण्डा प्रसाद पाण्डेय, पीसीएफ के जिलाध्यक्ष आरएन मिश्रा, एफसीआई के क्षेत्रीय प्रबन्धक, एआर कापरेटिव, यूपीएसएस व कर्मचारी कल्याण निगम के जिला प्रबन्धक के साथ किसानो के समर्थन मूल्य पर गेहूॅ क्रय के सम्बन्ध में बैठक की। बैठक में जिलाधिकारी ने गेहूॅ क्रम में लगी सभी 06 एजेन्सियों के प्रभारी व सभी 48 गेहूं क्रय केंद्र के प्रभारियों को सचेत किया है कि यदि उन्होंने किसी भी आढ़तिया या बिचैलिए से गेहूं क्रय किया तो उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। और यदि कोई व्यक्ति फर्जी पंजीकरण या फर्जी खतौनी से कोई गेहूं, गेहूॅ क्रय केंद्र पर बेचता है तो उसके व उससे सम्बन्धित केंद्र प्रभारी के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही होगी। जिलाधिकारी ने बताया कि विगत धान क्रय के समय कुछ इसी प्रकार की शिकायते मिली  जिसको संज्ञान में लिया गया जिसकी पुर्नवृत्ति नही होनी चाहिये। उन्होंने किसानों से कहा है कि वे अपने गेहूं का उचित समर्थन मूल्य प्राप्त करने हेतु अपना गेहूं क्रय केंद्र पर ही बेचें। यदि उन्हें गेहूं विक्रय से सम्बन्धित किसी भी प्रकार की समस्या हो या क्रय केन्द्र पर उसका गेहूं नहीं क्रय किया जा रहा है तो वह इसकी शिकायत आईजीआरएस के पोर्टल पर तथा गेहूं क्रय कंट्रोल रूम पर तुरंत करें। उन्होंने कहा उनकी शिकायतों का त्वरित निस्तारण कराया जाएगा शिकायत सही पाए जाने पर सम्बन्धित क्रय केंद्र प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि किसान को गेहूँ का मूल्य समर्थन मूल्य से अधिक मिल रहा है, तो वह उसे निसंकोच बेच सकते हैं। यदि कोई समर्थन मूल्य से गेहूं का मूल्य कम दे रहा है तो उन्होंने अपील की है कि किसान अपना गेहूं, क्रय केंद्र पर ही बेचे।   उन्होंने किसानों की हर प्रकार की समस्याओं के निराकरण हेतु जिला प्रशासन के उच्च अधिकारियों को लगाया है। सभी उप जिलाधिकारियों व तहसीलदारों को भी  अपने क्षेत्र के गेहूं क्रय केंद्र का नियमित रूप से निरीक्षण करने के निर्देश दिये जिससे किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। उन्होंने गेहूं क्रय केंद्र पर किसानों के बैठने के साथ-साथ स्वच्छ पेयजल की समुचित व्यवस्था भी करने के निर्देश दिये।   


     जिलाधिकारी ने कहा कि गेहूं क्रय केंद्र पर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराने के साथ सैनिटाइजर की भी व्यवस्था कराई जाए। जिलाधिकारी श्री अनुज कुमार झा ने बताया कि रवि विपणन वर्ष 2020-21 में जनपद अयोध्या में कुल 06 एजेंसियों के द्वारा 48 गेहूं क्रय केंद्र मूल्य समर्थन योजना अंतर्गत खोले गए है, यह सभी केंद्र 15 जून 2020 तक गेहूं क्रय हेतु क्रियाशील रहेंगे। शासन द्वारा जनपद को 41600 मैट्रिक टन क्रय का लक्ष्य आवंटित किया गया है।उन्होंने आगे बताया कि जनपद के समस्त किसान भाइयों से गेहूं क्रय हेतु टोकन व्यवस्था लागू की गई है जो संबंधित क्रय केंद्र प्रभारी अथवा जिला खाद्य विपणन अधिकारी कार्यालय द्वारा किसान के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर दिनांक एवं मात्रा/विक्रय हेतु निर्धारित क्रय केंद्र के साथ प्रेषित किया जाएगा। जिन किसान भाइयों को टोकन या मैसेज नहीं प्राप्त है और वह यदि केंद्र पर आते हैं तो उनका भी गेहूं क्रय किया जाएगा। जिलाधिकारी ने सभी किसान भाइयों से अनुरोध किया है कि कोविड-19 महामारी से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तथा मास्क का प्रयोग क्रय केंद्र पर अवश्य करें। किसान भाई गेहूं विक्रय हेतु अपना ऑनलाइन पंजीकरण कराकर ही केंद्र पर आएं ताकि केंद्र पर उन्हें कोई असुविधा न हो। इस बार गेहूं का विक्रय मूल्य 1925 रुपये प्रति कुंतल निर्धारित है, जिसका भुगतान पी0एफ0एम0एस0 के माध्यम से 72 घंटे के अंदर संबंधित खाते में किया जाएगा। क्रय केंद्र पर महिला किसानों को खरीद में वरीयता देते हुए खरीद की जाएगी। सप्ताह में 2 दिन मंगलवार व शुक्रवार को सीमांत कृषकों (अधिकतम भूमि 2 हैक्टेयर) व लघु सीमांत कृषकों (अधिकतम भूमि एक हेक्टेयर) के लिए आरक्षित रहेगा। इस बार बटाईदार व कांट्रैक्ट फार्म द्वारा भी निर्धारित शर्तों पर गेहूं का विक्रय किया जा सकेगा। गैर जनपद का गेहूं बिना सक्षम स्तर के अनुमति के नहीं खरीदा जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी केंद्र प्रभारियों द्वारा सैनिटाइजर/साबुन, मास्क की व्यवस्था कर मजदूरों को उपलब्ध कराते हुए तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए गेहूं का क्रय कराया जाए। उन्होंने बताया कि गेहूं क्रय संबंधी शिकायतों के निवारण के लिए जिला खाद्य विपणन अधिकारी कार्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है जिसका मोबाइल नंबर 7839565049 है उक्त के अतिरिक्त यदि किसी किसान भाई को कोई समस्या आती है तो वह जिला खाद्य विपणन अधिकारी अयोध्या के मोबाइल नंबर 8840117954 पर अपनी समस्या का समाधान कर सकता है। जिलाधिकारी ने बताया कि किसान अपनी शिकायत आईजीआरएस पोर्टल के साथ निम्नलिखित फोन नंबर 05278-225829,व 222798 पर भी कर सकते है आईजीआरस सेंटर पर किसानों की शिकायतों को दर्ज करने हेतु जिलाधिकारी ने एक अलग रजिस्टर बनाने के निर्देश दिए है।
  जिलाधिकारी ने सभी किसान भाइयों से अपील की है कि अपनी समस्त गेहूं का विक्रय सरकारी केंद्र पर ही करें और सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य समर्थन योजना का अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करें।