अब अयोध्या में कोरोना वायरस का कहर, जनपथ में चौकसी बढ़ी


     अयोध्या,  कोरोना वायरस का कहर अब अयोध्या तक पहुंच चुका है। गुरुवार को अयोध्या में 25 वर्षीय गर्भवती महिला में कोरोना वायरस की पॉजिटिव हुई है। रिपोर्ट आते ही जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। महिला को तत्काल जिले के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया है। उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना पॉजिटिव के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे। अयोध्या के समीप जनपदों में लगातार कोरोना के पॉजिटिव आने के बाद अब अयोध्या जनपद में भी इसने दस्तक दे दी है। दरअसल अयोध्या कोतवाली के थाना पूराकलंदर क्षेत्र स्थित सनेथू गांव की गर्भवती महिला कुछ दिन पूर्व ही छत्तीसगढ़ से अयोध्या पहुंची थी। जहां गर्भवती होने के नाते दर्शन नगर आशापुर गांव के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में उसे भर्ती कराया गया था। युवती की मेडिकल जांच के लिए ब्लड सैंपल पैथकाइण्ड लैब भेजा गया। रिपोर्ट में उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया। महिला ने किसी बाहरी व्यक्ति के संपर्क मेंं आने से इंकार किया है।



जिलाधिकारी ने की पुष्टि-



   जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन ने गर्भवती महिला को आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किए जाने के साथ ही महिलाा के संपर्क में आए लोगों को भी क्वॉरेंटाइन किए जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। अयोध्या में मिले पहले पॉजिटिव केस को लेकर जिलाधिकारी अनुज झा ने बताया कि महिला को आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किए जाने के साथ ही संपर्क में आए अन्य लोगों को भी क्वॉरेंटाइन कर उनकी जांच कराई जा रही है। साथ ही गर्भवती महिला व उसके बच्चे को सुरक्षित किया जा सके इसके लिए मेडिकल की टीम लगाई गई है। साथ ही बताया कि परिवार के अन्य लोगों को महिला से दूर रखा गया है। इसके साथ ही हॉस्पिटल की सभी नर्स व कर्मचारियों की भी जांच कराई जाएगी।


     कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने का मामला,संकरित महिला को भेजा गया सुल्तानपुर।सुल्तानपुर में होगी महिला आइसोलेट क्योकि सुल्तानपुर में और भी हैं संक्रमित मरीज।महिला के ससुराल व मायके वालों को किया गया क्वारन्टीन। रामनगरी अयोध्या का यह पहली मरीज।गर्भवती है महिला । में कोरोना,एरिया को किया गया सील सभी आस पास के लोगो की होगी जांच।


   नाथन का पुरवा हुआ सील जिलाधिकारी रात में ही टीम के साथ पहुचे गांव आज सुबह 8 बजे से सभी ग्रामीणों की होगी जांच,महिला को सुल्तानपुर भेजा गया। जिलाधिकारी ने बताया कि गांव में किसी और को कोई सिम्टम्स नही दिखे है।जिस अस्पताल में महिला भर्ती थी वह अस्पताल सील सभी स्टाफ का भी होगा स्क्रीनिंग उसके बाद ही कोई घर जाएगा।जिलाधिकारी  ने तत्काल उठाया कदम रात 9 बजे ही गांव को किया सील।जिलाधिकारी ने बताया महिला स्वस्थ्य है संकरित महिला को भेजा गया सुल्तानपुर। सुल्तानपुर में होगी महिला आइसोलेट,सुल्तानपुर में और भी हैं संक्रमित मरीज।महिला के ससुराल व मायके वालों को किया गया क्वारन्टीन। फिलहाल जिले में आज और चौकसी बढ़ी।



     जिलाधिकारी ने की त्वरित कार्यवाही जिले में बना पहला  हॉट स्पॉट:-

   सनेथू नत्था का पुरवा बना हॉट स्पॉट,संजाफि अस्पताल भी प्रशासन ने लिया कब्जे में लगाया मजिस्ट्रेट, मुख्यालय के उप जिला मजिस्ट्रेट लव कुमार सिंह के हवाले हुआ अस्पताल। सनेथू गांव 01 किमी दायरे में हुआ सील यहां के मजिस्ट्रेट सदर उपजिलाधिकारी आयुष चौधरी बनाए गए है।  जिलाधिकारी ने कहा बिना जांच कोई बाहर नही आएगा न ही भीतर जाएगा। जिलाधिकारी की रणनीति कोरोना का पहला केस ही आखिरी केस हो ऐसा लोगो की भी सोच।पूरे जिले में सुरक्षा कड़ी, आज नाकेबंदी में और कड़ाई, लोगो को फालतू घूमने कि अनुमती नही।



जिलाधिकारी अयोध्या ने लोगो से की अपील:-


    कृपया घरो में रहे लोग संकट का समय है, खुद पहल करते हुए लोग अधिक से अधिक समय घरों में रहे किसी को बहुत जरूरी हो तभी बाहर निकले। किसी प्रकार की अफवाह न फैलाए और न ही सुने।