अनावश्यक इधर उधर घूमने वालों की गाड़ियां होगी सीज- जिलाधिकारी


  अनावश्यक इधर उधर घूमने वालों की गाड़ियां होगी सीज, 21 सेक्टर मजिस्ट्रेट/ भ्रमण सील इंसीडेंट कमांडर लगाए गए।


     अयोध्या, लाॅक डाउन के बाद भी कतिपय लोग इधर-उधर अनावश्यक रूप से घर से बाहर निकल रहे हैं। फलस्वरूप लाॅक डाउन का उद्देश्य पूर्णरूप से सफल नही हो पा रहा है। लोग किराना दूध, दवा, सब्जी, फल की होम डिलेवरी के आदेश निर्गत किये गये है। लोग होम डिलेवरी से न माॅगाकर समान लेने घर से बाहर निकल रहे है। अनावश्यक रूप से बाहर निकलने वालो पर अंकुश लगाने तथा दवा सहित खाद्य सामान की होम डिलेवरी को व्यवहार मे लाने हेतु जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने शहरी व नगर क्षेत्रो सहित ग्रामीण क्षेत्र व उनके बाजार आदि क्षेत्रो में प्रभावी अंकुश लगाने की उद्देश्य से 21 सेक्टर मजिस्ट्रेट/भ्रमणशील इन्सीडेंट कमाण्डर की तैनाती तत्काल प्रभाव से कर दी है। उनके साथ पुलिस निरीक्षक, उप निरीक्षक व कान्टेविल की तैनाती की गई है। जो अपने-अपने क्षेत्रो में प्रातः 09 से सांय 06 बजे तक निरन्तर भम्रणशील रहकर अनावश्यक रूप से बाहर निकलने वालो पर अंकुश लगाने हेतु उनके वाहनो को सीज करेंगे। साथ ही यह देंखेगें कि सभी दुकानदार सामानो की आपूर्ति अधिक से अधिक होम डिलेवरी के माध्यम से करे। भ्रमणशील इन्सीडेन्ट कमाण्डर/सेक्टर मजिस्ट्रेट यह भी देखेंगे कि सस्ते राशनकोटे की दुकान, बैंक, डाक्टर व नर्सिंग होम जहां इमरजेन्सी सेवाए चल रही हो वहाॅ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो रहा है कि नही, बाहर हाथ धोने के लिए साबुन व पानी रखा गया है या नहीं संस्थान/दुकान में सैनेटाइजर की व्यवस्था की गई है कि नहीं। जिलाधिकारी ने बताया कि सेक्टर मजिस्ट्रेट/भ्रमणशील इन्सीडेण्ट कामाण्डर को काफी अधिकार दिये गये है। सोशल डिस्टेसिंग का पालन न करने वाले दुकान को उनके द्वारा सीज भी किया जा सकता है। वाहनो को रोक कर उनके द्वारा पूछ-ताछ करने पर संतोष जनक उत्तर न मिलने पर वाहन को सीज कर सकते है। बैंको में सोशल डिस्टेसिंग पालन हेतु आवश्यक दिशा निर्देश भी दे सकते है। जिलाधिकरी ने अंत में बताया कि 12 सेक्टर मजिस्ट्रेट/भ्रमणशील इन्सीडेण्ट कमाण्डर को आरक्षित रखा गया है जिनकी ड्यूटी आवश्यकतानुसार लगाई जायेगी। सेक्टर मजिस्ट्रेट के तैनाती का असर आज से ही दिखाने लगा।