अपने अपने घरों में रहकर ही करे इबादत व दुआएं

    शबे बरात आज,शाह मोहम्मद अली आरिफ़ उर्फ सुब्बु मियां का पैगाम.


   - अब्दुल जब्बार व डॉ0 मो0 शब्बीर 


     भेलसर(अयोध्या)कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर घोषित लॉकडाउन को देखते हुए शबे बरात के मौके पर अपने अपने घरों पर रहकर इबादत करे।अपने पूर्वजों के लिए दुआ करे।यह अपील शबे बरात के मौके पर दरगाह शरीफ़ हज़रत मख्दूम अहमद अब्दुल ह़क(र.अ.)के सज्जादा नशीन शाह मोहम्मद अली आरिफ"सुब्बू मियाँ "ने शबे बरात के मौके पर रूदौली की अवाम से कही है।
उन्होंने मुस्लिम समाज के लोगों से अपील करते हुए कहा कि शबे बरात के दिन मुसलमान अपने अपने पूर्वजों को याद कर उनकी क़ब्रो पर जाकर फूल चढ़ाते हैं और उनकी रूह के सुकून व मगफिरत के लिए दुआ करते हैं।लेकिन इस बार कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर घोषित लॉकडाउन को देखते हुए मुसलमान अपने घरों पर रहकर ही अपने पूर्वजों के लिए दुआ करे।कहा कि हुकूमत ने जो पाबंदिया लगाई है उस पर सभी को अमल करना चाहिए।हमें अपने पूर्वजों को याद करने के साथ साथ कोरोना वायरस के समाप्त होने के लिए भी दुआ करनी है।आज हर मुसलमान का फर्ज है कि इस जानलेवा आफत हो भगाने के लिए दुआ करें।प्रशासन का सहयोग करे।सोशल डिस्टेंस बनाये रखें।ज़रा सी लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती हैं।यदि हम पाबंदियों को तोड़कर घरों से निकलते हैं तो हमें कोरोना वायरस से संक्रमित होने का भी खतरा है।इसलिए अपने व अपने परिवार वालो की हिफाज़त के लिए घरों पर ही रहे और घरों पर ही रहकर इबादत व दुआ करें।