गेहूॅ क्रय केन्द्रो पर बिचौलियों का प्रवेश वर्जित: जिलाधिकारी


  जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने गेंहू क्रय केंद्र  बीकापुर किसान सेवा सहकारी समिति, गेंहू क्रय केंद्र किसान सेवा सहकारी समिति लिमिटेड बिरौली व गेंहू की केंद्र ( विपरण शाखा) बीकापुर का औचक निरीक्षण किया।


      अयोध्या, कोरोना वायरस के खिलाफ चल रहे जंग के साथ-साथ किसानो को गेहूॅ का समर्थन मूल्य पर अधिक से अधिक हो ताकि समर्थन मूल्य का लाभ किसानो को मिल सके तथा विचैलिया हत्सोत्साहित हो यह प्रदेश सरकार एवं जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है।



 कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में उक्त बाते उप जिलाधिकारी से कहते हुए जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने निर्देशित किया कि अपने अधीन समस्त लेखपाल को उनसे संबंधित ग्रामो के सर्वे करते हुए गेहूॅ बिक्रय करने वाले किसानो की सूची बनाने के उपरान्त उनका पंजीकरण कराये और किस दिन किसान अपना गेहूॅ क्रय केन्द्र पर बेचना चाहता है तिथिवार सूची व उनका मोबाइल नम्बर सहित सूची केन्द्र प्रभारी को दे। ताकि उस दिन केन्द्र प्रभारी द्वारा किसानो को मोबाइल द्वारा स्मरण कराया जा सके।
 जिलाधिकारी ने कहा कि वे लेखपाल जिनकी ड्यूटी गेहूॅ क्रय केन्द्रो पर लगाई गई है वे प्रत्येक दशा में 09 बजे गेहूॅ क्रय केन्द्र पर पहुॅचकर सांय 06 बजे तक उपस्थित रहे। शासन द्वारा गेहूॅ का न्यूनतम क्रय मूल्य 1925 रू0 निर्धारित किया गया है। कोई भी व्यापारी समर्थन मूल्य 1925/-से कम पर क्रय करता है तो उसके खिलाफ कार्यवाही भी की जाये। जिलाधिकारी ने प्रतिदिन गेहूॅ क्रय की समीक्षा के साथ प्रतिदिन गेहूॅ क्रय की रिर्पोट भी तलब की है।



   कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने उपस्थित उप जिलाधिकरी, ठक्व् से कहा कि ग्रामीण क्षेत्रो में जिनका राशन कार्ड नही बना है और वे लोग दैनिक मजदूरी कर अपने परिवार का भरण-पोषण करते है को तत्कालिक आर्थिक सहायता के रूप में 1 हजार रूपये दिये जाने का शासन से निर्देश दिये गये है।उन्होंने कहा कि जो लोग अत्यन्त गरीब है उनका राशन कार्ड नही बना है अपने तथा अपने परिवार का भरण-पोषण मजदूरी करते है उनकी सूची उप जिलाधिकारी के माध्यम् से तैयार कर प्रस्तुत करे ताकि ऐसे लोगो को उनके परिवार के भरण-पोष हेतु 1 हजार की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जा सके।


     जिलाधिकारी ने बताया कि 60 जनसेवा केन्द्रो को चिन्हित कर उन्हें गेहूॅ किसानो के पंजीकरण हेतु अनुमति प्रदान की गई है। लेखपाल किसानो के पंजीकरण के साथ गेहूॅ क्रय केन्द्र से समन्वय बनाकर किसानो के गेहूॅ की तौल की तिथि का टोकन उपलब्ध करायेंगे। जिलाधिकारी ने लेखपालो से यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि गेहूॅ क्रय केन्द्रो पर बिचौलियों का गेहूॅ कदापि क्रय न हों यदि कोई व्यक्ति बिचैलिया फर्जी ढंग से खतौनी इक्ट्ठा करके गेहूॅ क्रय केन्द्र पर गेहूॅ बेचता है तो उसके खिलाफ 3/7 का मुकदमा भी दर्ज कराया जाए।  गेहूॅ क्रय केन्द्र पर सोशल डिस्टैसिंग मेनटेन करने के साथ हाथो को धोने हेतु साबुन, पानी पर्याप्त व्यवस्था हों, सभी पल्लेदार एवं किसान मास्क अवश्य पहने रहे, हाथो को समय-समय पर सैनेट्रªाइज करे। किसानो के बैठने हेतु छाया तथा स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था रहे। जिलाधिकारी ने सभी किसान भाइयों से अपील की है कि वे अपने गेहूं का विक्रय समर्थन मूल्य से कम  पर न करें। गेहूं के विक्रय में किसी भी प्रकार की समस्या आने पर अपने क्षेत्र के लेखपाल से संपर्क करें लेखपाल को किसानों की समस्याओं का तत्काल निस्तारण कराने के निर्देश दिए गए हैं यदि लेखपाल द्वारा समस्या का निराकरण नहीं किया जा रहा है तो इसकी सूचना उच्च अधिकारियों को दें।