गेहूॅ क्रय केन्द्रों पर सोशल डिस्टेसिंग का कराएं अनुपालन -डाo रूपेश कुमार


                           ( जिलाधिकारी ने गेहूॅ क्रय केन्द्र महुली एवं फेनहा का किया निरीक्षण )
      प्रतापगढ़, जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार ने आज गेहूॅ क्रय केन्द्र विपणन शाखा महुली एवं साधन सहकारी समिति फेनहा का निरीक्षण किया। गेहूॅ क्रय केन्द्र विपणन शाखा महुली के निरीक्षण में केन्द्र प्रभारी ने बताया कि अब तक  किसानों से 313 कुन्तल खरीद की गयी है। जिलाधिकारी ने राम नारायण सुत महादेव निवासी दशरथपुर तहसील पट्टी के पंजीकरण फार्म का अवलोकन भी किया। केन्द्र प्रभारी द्वारा बताया गया कि किसान आनलाइन गेहूॅ क्रय हेतु पंजीकरण में अपनी खतौनी का विवरण दर्ज कराते है और दर्ज कराने के बाद सम्बन्धित लेखपाल से आख्या प्राप्त की जाती है ताकि किसान व उसके नाम की जमीन की पहचान हो सके। शासन द्वारा यह प्रक्रिया वास्तविक किसानों को लाभ पहुॅचाने के दृष्टिगत निर्धारित की गयी है। केन्द्र पर पर्याप्त बोरो, नमी मापक यंत्र, इलेक्ट्रानिक कांटा का जिलाधिकारी ने निरीक्षण किया तथा बोरे का वजन भी लिया गया।



      जिलाधिकारी ने किसानो को टोकन कैसे निर्गत किया जाता है इस सम्बन्ध में केन्द्र प्रभारी से जानकारी ली तो बताय गया कि आनलाइन पंजीकरण के समय टोकन निर्गत किया जाता है। जिलाधिकारी ने केन्द्र प्रभारी को निर्देशित किया कि गेहूॅ क्रय करते समय सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन कराया जाये तथा आने वाले किसानों को साबुन से हाथ धुलवाया जाये। किसानों का भुगतान पी0एफ0एम0एस0 के माध्यम से कराया जाता है। उन्होने निर्देश दिया कि भुगतान प्रक्रिया की जानकारी किसानों को अवश्य दी जाये तथा किसी तकनीकी प्रक्रिया की वजह से किसानों को परेशान न किया जाये। जिलाधिकारी ने साधन सहकारी समिति फेनहा का निरीक्षण किया। क्रय केन्द्र पर रामकरन सरोज ग्राम परसनी तहसील पट्टी द्वारा गेहूॅ क्रय हेतु लाया गया था। उन्होने क्रय केन्द्र गेहूॅ खरीद के सम्बन्ध में जानकारी ली तो केन्द्र प्रभारी द्वारा बताया गया कि अब तक 208 कुन्तल गेहूॅ खरीद की गयी है। केन्द्र प्रभारी को निर्देशित किया गया कि सम्बन्धित किसानों से सम्पर्क बनाये रखे तथा निर्धारित समय पर प्रतिदिन केन्द्र खोले जाये ताकि किसानों को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना न करने पड़े।


      गेहूं क्रय केंद्र विपणन शाखा महुली के निरीक्षण में केंद्र प्रभारी श्यामू मिश्र ने बताया कि अब तक किसानों से 313 कुंतल खरीद की गयी है। डीएम ने राम नारायण निवासी दशरथपुर के पंजीकरण फार्म को देखा। प्रभारी ने बताया कि किसान ऑनलाइन गेहूं क्रय करने के लिए पंजीकरण में अपनी खतौनी का विवरण दर्ज कराते है और दर्ज कराने के बाद संबंधित लेखपाल से रिपोर्ट लगाई जाती है। ताकि किसान व उसके नाम की जमीन की पहचान हो सके। पर्याप्त बोरो, नमी मापक यंत्र, इलेक्ट्रानिक कांटा का डीएम ने निरीक्षण किया। बोरे का वजन भी कराया गया। डीएम डॉ. रूपेश कुमार ने किसानों को टोकन निर्गत करने की जानकारी ली। एडीएम शत्रोहन वैश्य ने बताया गया कि ऑनलाइन पंजीकरण के समय टोकन निर्गत किया जाता है। डीएम ने कहा कि गेहूं क्रय करते समय फिजिकल डिस्टेंसिग का पालन कराया जाए। आने वाले किसानों को साबुन से हाथ धुलवाएं। किसानों का भुगतान पीएफएमएस के माध्यम से कराया जाता है। डीएम ने कहा कि किसी तकनीकी प्रक्रिया की वजह से किसानों को परेशान न किया जाए। इसके बाद वह साधन सहकारी समिति फेनहा का निरीक्षण किया। क्रय केंद्र पर रामकरन सरोज ग्राम परसनी तहसील पट्टी द्वारा गेहूं क्रय करने के लिए लाया गया था। उन्होने खरीद के संबंध में जानकारी ली तो केंद्र प्रभारी ने बताया कि अब तक 208 कुंतल गेहूं खरीद की गई है।
  जिलाधिकारी ने लॉकडाउन के दौरान भ्रमण के समय देखा कि फल विक्रेता एक ही स्थान पर खड़े होकर फल बेच रहा था जिस पर फल विक्रेता को निर्देश दिया गया कि वह एक ही स्थान पर खड़े होकर फल न बेचे ताकि भीड़ एकत्रित न हो। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य भी उपस्थित रहे।