हरियाणा,दिल्ली और नोएडा में फंसे परदेसियों का सहारा बनी साइकिल 


       - अब्दुल जब्बार


    भेलसर(अयोध्या)लॉक डाउन में घर से दूर हरियाणा,दिल्ली और नोएडा में फंसे परदेसियों ने  अपने घर पहुंचने के लिए साइकिल का सहारा लिया है।
   हरियाणा,दिल्ली और नोएडा में फंसे परदेसियों ने लिया घर पहुंचने के लिए साइकिल का सहारा,राष्ट्रीय राजमार्ग लखनऊ अयोधया के भेलसर चौराहे  से साइकिल सवारों का समूह निकलता रहा।साइकिल से लंबी यात्रा की दूरी तय करने वालों वाले हरियाणा के हिसार शहर से  बिहार के औरंगाबाद जा रहे जगदीश प्रसाद व दिलीप कुमार,हरियाणा के रोहतक से साइकिल से बिहार के मोतिहारी और रोहतक से ही बिहार के सिवान घर जा रहे प्रदीप कुमार,रामदीन और रमेश कुमार ने बताया कोई साधन न मिलने से साइकिल से घर जाने के लिए निकल पड़े हैं।


   इन परदेसियों ने बताया अपने घर जाने के लिए नई साइकिल खरीदी है।साइकिल के हैंडल पर अपना झोला लटकाए और कैरियर पर झोला बांधकर ग्रुप में निकल रहे साइकिल सवार परदेशियों को घर पहुचने की जल्दी है।एक पुरानी साइकिल पर हरियाणा के पानीपत शहर से गोरखपुर के लिए निकले प्रदीप कुमार और राजू ने बताया की चार दिन पहले निकले है।सुबह 5 बजे से दोपहर 12 बजे साइकिल से यात्रा करते हैं।दोपहर में छांव मिलने पर रुक कर दूसरी पहर शाम 5 बजे से रात 8 बजे यात्रा करते है।बताया कि रास्ते में जो भी खाना-पीना मिल जाए उससे गुजारा करते हैं।भेलसर में साइकिल से निकल रहे परदेसियों को  व्यवसाई मोहम्मद ताहिर ने बिस्कुट पानी और फल वितरित करते मिले।बताया कि मुसाफिरों की मदद रमजान मे करना सवाब है।