जनपद में एक भी कोरोना संक्रमित व्यक्ति/मरीज न मिलने का मतलब छूट नही - जिलाधिकारी


      अयोध्या, भारत सरकार एवं उ0प्र0 सरकार द्वारा 03 मई तक जारी किया गया है लाॅक डाउन। अफवाहो पर लोग ध्यान न दे। जनपद में एक भी कोरोना संक्रमित व्यक्ति/मरीज न मिलने का यह मतलब नही है कि लाॅक डाउन में किसी भी प्रकार की ढील या छूट दी गई है लाॅक डाउन में न तो किसी प्रकार की छूट दी गई न ही ढील दी जायगी जबतक शासन से कोई स्पष्ट निर्देश जारी नही किये जाते है। सरकार एवं शासन द्वारा जारी आदेशो का पूर्ण पालन जिला प्रशासन सख्ती से करायेगा। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने जनपद के विभिन्न क्षेत्रो का भम्रण कर अनावश्यक घूम रहे लोगो को थाने भेजने के साथ उनकी चार पहिया एवं दो पहिया वाहनो को सीज कर कड़ाई का स्पष्ट संदेश दिया। अधिकारी द्वय ने कहा कि जिन लोगो को पास जारी किया गया है यदि वे भी उसका दुरूपयोग करते हुए पाये जायेंगे तो उनके खिलाफ भी कड़ी कार्यवाही करते हुए उनके वाहनो को भी सीज किया जायेगा।



      जिलाधिकारी ने भम्रण दौरान बताया कि सभी क्षेत्रो के उप जिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी, पुलिस थानो एवं  चौकी इंचार्ज को लाॅक डाउन का कड़ाई से पालन कराने हेतु वायरलेस सेट से निर्देश प्रसारित कर दिया गया है। भम्रण के दौरान अधिकारी द्वय ने पुरूषो के अतिरिक्त महिलाओ को जो अनावश्यक बिना किसी कार्य के चार पहिया अथवा स्कूटी से बाहर निकली महिलाओ को उनके घर छुड़वाने के पश्चात उनके भी वाहनो को वापस लाकर सीज किया जायेगा। जिलाधिकारी ने लोगो को अगाह किया कि 03 मई तक जारी लाॅक डाउन का पूर्णतः पालन करे साथ ही लाॅक डाउन की लक्ष्मण रेखा के अनुपालन करने की नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि जबतक आप घर में रहेंगे तब तक पूर्ण रूप से आप सुरक्षित रहेंगे और आपका परिवार भी सुरक्षित रहेगा। उन्होंने कहा कि जब आप को राशन, सब्जी, फल, दूध आदि दैनिक वस्तुओ की आपूर्ति आपके निवास स्थल पर हो रही है तो बाहर निकले की क्या आवश्यकता है। दुकानदार तथा दवा की दुकान का मो0 नं0 नोट कर ले तथा उनसे होम डिलेवरी के लिए कहे और प्रयास करे कि आवश्यक सामान एवं दवा की आपूर्ति होम डिलेवरी से हो।


   


       जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा रिकाबगंज, चैक, फतेहगंज, कसाबबाड़ा, नियावा, गुदड़ी बाजार चैराहा, सिविल लाइन आदि का भ्रमण कर अनावश्यक रूप से घूम रहे लोगो को रोककर बाहर निकलने का कारण पूछा, संतोष जनक उत्तर न मिलने पर उनके वाहनो को सीज कर उन्हें थाने भेजा गया। भम्रण के दौरान दवा की दुकानो पर सोशल  डिस्टेसिंग का पालन न होने पर दुकानदारो को सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिये गये अन्यथा उनके विरूद्ध भी सख्त कार्यवाही की जायेगी।