जरूरतमंदों तक सामग्री पहुॅंचाने पर पुलिस बेवजह करती है प्रताड़ित


    अ0भा0 काॅग्रेस कमेटी की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के आवाह्न पर पूरे प्रदेश में काॅग्रेस कार्यकर्ता, नेता, शुभचिंतक जरूरतमंदों को खाने एवं राशन के पैकेट उनके घर जाकर पहुॅंचा रहे हैं। साथ ही प्रशासन के साथ सहयोग करते हुए देश के समक्ष आये इस संकट में सरकार के साथ हैं।ऐसे समय में जब दुनिया की बहुसंख्यक आबादी कोविड-19 महामारी के प्रकोप से जूझ रही है। वही हमारे देश में इस बीमारी के खतरे से लाकडाउन की वजह से गरीबों के समक्ष खाने की समस्या उत्पन्न हो गयी है। ऐसी स्थिति में कांग्रेस पार्टी ने उनकी मदद के लिए पूरे देश में हेल्प लाइन नम्बरों पर राशन, दवा, खाने का पैकेट इत्यादि की मांग पर उन्हें उक्त वस्तुएं पहुॅंचायी जा रही हैं।



कई जिलों से हमारे कार्यकर्ताओं ने बताया है कि जरूरतमंदों तक सामग्री पहुॅंचाने जा रहे कार्यकर्ताओं को पुलिस द्वारा बेवजह प्रताड़ित किया जा रहा है, जो निम्न है-
1. कोरोना पीड़ितों को राहत सामग्री वितरण कार्य में सक्रियता से लगे हमारे प्रदेश सचिव श्री सचिन चैधरी को दिनांक 11 अप्रैल को जिला प्रशासन द्वारा जेल भेज दिया गया, जिन्हें अविलम्ब बिना शर्त रिहा किये जाने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया जाये।
2. गोरखपुर में हमारी जिलाध्यक्ष को बार-बार प्रताड़ित किया गया, 3 अप्रैल को जगदीशपुर चैकी के सिपाहियों ने जिलाध्यक्ष श्रीमती निर्मला पासवान जी की गाड़ी की हवा निकाल दी। 10 अप्रैल को गोरखनाथ थानाध्यक्ष ने जिलाध्यक्ष के आवास पर जाकर दबाव बनाने का प्रयास किया।
3. 10 अप्रैल, 2020 को बलिया शहर कोतवाल श्री विपिन सिंह एवं एस.डी.एम. ने जिला काॅग्रेस कार्यालय जाकर वहाॅं चल रही साझी रसोई को बन्द करवा कर पार्टी पदाधिकारियों के साथ बदसलूकी किया।
4. दिनाॅक 10 अप्रैल, 2020 को चन्दौली जनपद के मुगलसराय सदर कोतवाल श्री गोपालदास गुप्ता द्वारा चंदौली शहर अध्यक्ष की गाड़ी का चालान किया गया। दिनांक 11 अप्रैल को मुगल सराय थानाध्यक्ष शिवानन्द मिश्रा ने हमारे कार्यकर्ता दशरथ चैहान को बेवजह थाने में बैठाये रखा।
5. दिनाॅक 9 अप्रैल को मऊ में एक कंाग्रेस कार्यकर्ता की मृत्यु होने पर श्री विष्णु प्रकाश कुशवाहा को उनके अंतिम संस्कार में नहीं जाने हेतु पास नहीं दिया गया और थानाध्यक्ष ने अनाज वितरण करने से भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोका और जिला प्रशासन के पास जमा करने के लिए कहा।
6. देवरिया एवं वाराणसी में कंाग्रेसजनों के सहयोग से चल रही साझी रसोई को स्थानीय पुलिस प्रशासन द्वारा जबरन बन्द करवा दिया गया, जनहित में इन रसोइयों को चलने दिया जाये।
7. इसी तरह पुलिस द्वारा हमारे कार्यकर्ताओें  के उत्पीड़न की सूचनाएं अन्य जनपदों से भी हमें प्राप्त हो रही हैं। इसके अलावा स्वयं सेवी संस्थाओं के कार्यकर्ताओं को भी राहत सामग्री जरूरतमंदों को वितरित करने नहीं दी जा रही, जबकि पार्टी विशेष से जुड़े लोगों को पूरी छूट मिली हुई है। 

     अतः उक्त विषयकों को गम्भीरता पूर्वक संज्ञान में लेकर सम्बन्धित अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही करते हुए जिला प्रशासन को निर्देशित करें कि काॅग्रेस व अन्य स्वयं सेवी संगठनों के जो कार्यकर्ता जरूरतमंदों को राशन, दवा, भोजन पहुॅंचा रहे हैं, उन्हें अनायास परेशान न किया जाये।