कोरोना संकट के बीच सेंसेक्स में जबरदस्त उछाल

 


    मुंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स मंगलवार को 2,476 अंक उछल कर 30,000 अंक के ऊपर निकल गया। अंक के हिसाब से किसी एक दिन में यह बाजार की सबसे बड़ी तेजी है। वैश्विक बाजारों में चौतरफा तेजी के बीच घरेलू शेयर बाजार मजबूत हुए। तीस शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स कारोबार के दौरान एक समय यह उछाल 2,567 अंक तब हो गया था लेकिन अंत में इसमें हल्का कम हो गया। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 2,476.26 यानी 8.97 प्रतिशत की जोरदार बढ़त के साथ 30,067.21 अंक पर बंद हुआ। प्रतिशत के हिसाब से यह मई 2009 के बाद इसका सबसे बड़ा उछाल हैं।


इसी तरह, एनएसई निफ्टी 708.40 अंक यानी 8.76 प्रतिशत मजबूत होकर 8,792.20 अंक पर बंद हुआ। अंकों के हिसाब से इसमें यह एक दिन की सबसे बड़ी तजी रही जबकि प्रतिशत के हिसाब से यह मई 2009 के बाद की सर्वाधिक ऊंची छलांग है। सेंसेक्स में शामिल सभी शेयर लाभ में रहे। इंडसइंड सर्वाधिक 22 प्रतिशत लाभ में रहा। उसके बाद क्रमश: एक्सिस बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, आईसीआईसीआई बैंक, एचयूएल, मारुति, एचसीएल टेक और हीरो मोटोकार्प का स्थान रहा।


वैश्विक मोर्चे पर चीन में शंघाई, हांगकांग, जापान में तोक्यो और दक्षिण कोरिया के सोल बाजार के सूचकांकों में 2 प्रतिशत तक सुधार रहा। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरूआती कारोबार में तेजी रही।


उधर, वैश्विक मानक ब्रेंट क्रूड वायदा का भाव 2.48 प्रतिशत मजबूत होकर 33.87 डॉलर बैरल पर पहुंच गया। ओपेक (तेल निर्यातक देशों का संगठन) की इस सप्ताह प्रस्तावित बैठक में आपूर्ति में कमी किये जाने को लेकर समझौता होने की उम्मीद से तेल में तेजी आयी है।


इस बीच, कोरोना वायरस मामलों की संख्या देश में बढ़कर 4,421 पहुंच गयी है जबकि 114 लोगों की मौत हुई है। वैश्विक स्तर पर इस वायरस से 13 लाख लोग संक्रमित हैं जबकि 74,000 लोगों की मौत हो चुकी है।