कोविड-19, ग्रामीण क्षेत्रों के सूक्ष्म,लघु एवं मध्यम उद्योगों को यथाशीघ्र प्रारम्भ कराया जाये: मुख्य सचिव


                  मुख्य सचिव ने सभी जिलाधिकारियों को परिपत्र निर्गत कर दिये निर्देश।



  • कोविड-19 के कारण घोषित लाॅकडाउन के नियमों का पालन करते हुये ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को यथाशीघ्र प्रारम्भ कराया जाये।हाॅट स्पाट कन्टेंनमेंट क्षेत्र से बाहर ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को ही चलाने की अनुमति दी जाये।

  • जिला उद्योग केन्द्र के उपायुक्त द्वारा स्थानीय चिकित्साधिकारियों के साथ समय-समय पर इन उद्योगों का निरीक्षण कर सोशल डिस्टेन्सिंग एवं सेनेटाइजेशन आदि के निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराया जाये।



  • इकाइयों के कर्मचारियों की थर्मल स्कैनिंग कराने के साथ-साथ रेण्डम आधार पर कुछ कर्मचारियों का आरटी-पीसीआर टेस्ट भी कराया जाये।


    लखनऊ,  मुख्य सचिव ने सभी जिलाधिकारियों को कोविड-19 के कारण घोषित लाॅकडाउन के नियमों का पालन करते हुये ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को यथाशीघ्र प्रारम्भ कराये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि जनपद में कोविड-19 की स्थिति को देखते हुये हाॅट स्पाट कन्टेंनमेंट क्षेत्र से बाहर ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को ही चलाने की अनुमति दी जाये। इन उद्योगों को गृह एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किये गये विभिन्न निर्देशों जैसे-सोशल डिस्टेंन्सिंग व सेनेटाइजर आदि का पालन करने हेतु भी निर्देशित किया जाये।
          मुख्य सचिव ने यह निर्देश समस्त जिलाधिकारियों को परिपत्र निर्गत कर दिये हैं। उन्होंने कहा कि जिला उद्योग केन्द्र के उपायुक्त द्वारा स्थानीय चिकित्साधिकारियों के साथ-समय पर इन उद्योगों का निरीक्षण कर सोशल डिस्टेन्सिंग एवं सेनेटाइजेशन आदि के निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराया जाये। इकाइयों के कर्मचारियों की थर्मल स्कैनिंग कराने के साथ-साथ रेण्डम आधार पर कुछ कर्मचारियों का आरटी-पीसीआर टेस्ट भी कराया जाये।