कोविड-19 का जून तक होगा खात्‍मा

          Covid 19 का जून तक होगा खात्‍मा, जिंदगी पटरी पर लौटने को लेकर पॉजिटिव है. भारतीय
कोरोना वायरस जहां तेजी से देश में फैल रहा है, वहीं एक अच्‍छी खबर आपको तरोताजा कर देगी. जी हां, ज्‍यादातर भारतीयों का मानना है कि Covid 19 देश से जून 2020 तक एकदम साफ हो जाएगा. यानि जिंदगी जून महीने से फिर पटरी पर आ जाएगी.


      7.92 करोड़ किसानों के बैंक खातों में 15,841 करोड़ रुपये की रकम ट्रासफर हो चुकी है. (Reuters)
कोरोना वायरस (Coronavirus) जहां तेजी से देश में फैल रहा है, वहीं एक अच्‍छी खबर आपको तरोताजा कर देगी. जी हां, ज्‍यादातर भारतीयों (Indian) का मानना है कि Covid 19 देश से जून 2020 तक एकदम साफ हो जाएगा. यानि जिंदगी जून महीने से फिर पटरी पर आ जाएगी. यह बात एक ग्‍लोबल सर्वे में सामने आई है.


     Market research firm Ipsos ने यह सर्वे कराया है. इसके मुताबिक 83 फीसदी भारतीयों ने कहा कि जून तक हालात सामान्‍य होने लगेंगे. सर्वे में 14 देश शामिल हैं. सर्वे में आशावान लोगों में भारतीयों का स्‍थान चौथा है. जबकि जापानी, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नागरिकों का सोचना उल्‍टा है.


सर्वे के मुताबिक कोविड-19 के खात्‍मे को लेकर कई देशों के लोग आशावान हैं. इनमें वियतनाम (92%), ब्राजील (85%) और मेक्सिको (84 प्रतिशत) सबसे ऊपर हैं.2 से 4 अप्रेल के बीच हुए सर्वे के मुताबिक अधिकतर लोगों को लग रहा है कि Covid 19 थोड़े समय में गुजर जाएगा और जून तक जिंदगी पटरी पर लौटने लगेगी. हालांकि जापान, ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया के ज्यादातर लोगों ने खराब होते हालात पर कहा कि महामारी जून तक टलना मुश्किल है.


     सर्वे में दुनियाभर के 28,000 लोगों से बात की गई. आस्ट्रेलिया, ब्राजील, मेक्सिको, रूस, फ्रांस, चीन, जर्मनी, इटली, भारत, जापान, वियतनाम और ब्रिटेन में 16-74 वर्ष के बीच के लोगों इस सर्वे पर ऑनलाइन बात की गई जबकि कनाडा और अमेरिका में शहरों की 18-74 वर्ष की आबादी की राय ली गई. 


     भारत में कोरोनावायरस संक्रमण के चलते 239 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कुल संक्रमित व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 7447 तक पहुंच गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को इस बात की जानकारी दी. मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण से कुल 6,565 लोग संक्रमित हैं, जबकि महामारी के चलते अब तक कुल 239 व्यक्तियों की मौत हो गई है. एक मरीज के पलायन सहित उपचार के बाद 642 लोग पूर्ण रूप से स्वस्थ हो गए हैं, जिन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.


      महाराष्ट्र 1574 एक्टिव मामलों के साथ महामारी से सबसे अधिक प्रभावित है. राज्य में संक्रमण के चलते 110 मौतें हुई हैं, जबकि इलाज के बाद 188 लोग ठीक हुए हैं. तमिलनाडु भारत का दूसरा ऐसा राज्य है, जो कोरोनवायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है. यहां कुल 943 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 8 लोगों की मौत हो गई है.वहीं, पिछले 24 घंटों में कुल 180 से अधिक मामलों के साथ राष्ट्रीय राजधानी इस सूची में 903 एक्टिव मामलों के साथ तीसरे स्थान पर है. दिल्ली में महामारी से कुल 13 लोगों की मौत हुई है, जबकि उपचार के बाद पूर्ण रूप से स्वस्थ हुए 25 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.