लाॅकडाउन के दौरान स्वास्थ्य विभाग, पंचायत व नगर निकाय संस्थाओं द्वारा सेनिटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा है: मुख्यमंत्री

 

        मुख्यमंत्री ने अग्निशमन विभाग के 56 फायर टेण्डर्स का लोकार्पण किया,मुख्यमंत्री ने अग्निशमन व सेनिटाइजेशन उपकरणों का अवलोकन भी किया।फायर ब्रिगेड की गाड़ियों का उपयोग कर प्रत्येक गांव व शहर को समयबद्ध ढंग से विषाणु मुक्त करने की कार्यवाही संचालित।सेनिटाइजेशन की कार्यवाही से कोविड-19 के विरुद्ध संघर्ष में सफलता मिलेगी,विगत तीन वर्षों में राज्य सरकार ने चरणबद्ध ढंग से तहसीलों में फायर टेण्डर्स की व्यवस्था की।

 

      लखनऊ 08 अप्रैल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने आज अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक संक्षिप्त कार्यक्रम में अग्निशमन विभाग के 56 फायर टेण्डर्स का लोकार्पण किया। यह फायर टेण्डर अग्निशमन कार्यों के साथ ही, वर्तमान में कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए विभिन्न जनपदों में सेनिटाइजेशन का कार्य करेंगे। इन फायर टेण्डर्स के लोकार्पण से पूर्व मुख्यमंत्री जी ने कार्यक्रम स्थल पर प्रदर्शित अग्निशमन व सेनिटाइजेशन उपकरणों का अवलोकन भी किया।मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि यह कार्यक्रम ऐसे समय पर आयोजित हुआ है, जब सम्पूर्ण विश्व कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए प्रयासरत है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में कोविड-19 को परास्त करने के लिए आमजन की सहभागिता व सहयोग से लाॅकडाउन की कार्यवाही चल रही है। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग, पंचायत व नगर निकाय संस्थाओं द्वारा सेनिटाइजेशन के कार्य कराए जा रहे हैं।

 


     मुख्यमंत्री ने कहा कि फायर ब्रिगेड की गाड़ियों का उपयोग कर प्रत्येक गांव व शहर को समयबद्ध ढंग से विषाणु मुक्त करने की कार्यवाही विगत एक सप्ताह से चल रही है। इस कार्यवाही को और सुदृढ़ करने के लिए आज अत्याधुनिक उपकरणों से युक्त 56 गाड़ियां भी इससे जुड़ रही हैं। इस कार्य को शीघ्रता से आगे बढ़ाने के लिए विभागीय अधिकारियों की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री जी ने भरोसा जताया कि सेनिटाइजेशन की कार्यवाही से कोविड-19 के विरुद्ध संघर्ष में सफलता मिलेगी।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान समय में वातावरण का तापमान भी बढ़ रहा है। ऐसे में अग्निकाण्ड की घटनाएं भी सामने आएंगी। उन्हांेने कहा कि आज लोकार्पित गाड़ियों के अग्निशमन के साथ सेनिटाइजेशन के कार्यों में भी उपयोग होगा। उन्होंने कहा कि यह गाड़ियां जिन जनपदों में भेजी जा रही हैं, वहां इनका बेहतर उपयोग किया जाए।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की लगभग 350 तहसीलों में से आधे में फायर टेण्डर की व्यवस्था नहीं थी। विगत तीन वर्षों में राज्य सरकार ने चरणबद्ध ढंग से तहसीलों में फायर टेण्डर्स की व्यवस्था की है। वर्तमान में बची हुई लगभग 130 तहसीलों में से 56 तहसीलों में फायर टेण्डर की व्यवस्था करायी गई है। शेष तहसीलों को भी चरणबद्ध ढंग से अग्निशमन उपकरणों से युक्त किया जाएगा।

कार्यक्रम में अपने सम्बोधन में पुलिस महानिदेशक फायर सर्विस आ0के0 विश्वकर्मा ने बताया कि शासन द्वारा प्रदान की गई 30 करोड़ रुपए की धनराशि में से 20 करोड़ रुपए की धनराशि से 96 गाड़ियां व 10 करोड़ रुपए की धनराशि से अत्याधुनिक उपकरण खरीदे गए हैं। प्रथम चरण में आज मुख्यमंत्री जी द्वारा 56 गाड़ियों को विभिन्न जनपदों में रवाना किया गया है। यह गाड़ियां हाईप्रेशर पम्प से सुसज्जित हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए सभी 75 जनपदों में फायर ब्रिगेड की गाड़ियों द्वारा सोडियम हाइपोक्लोरस साल्यूशन का छिड़काव किया जा रहा है।