लॉकडाउन के 16वें दिन शब ए बारात के मौके पर दरगाहों व क़ब्रिस्तान में नही गया मुस्लिम समुदाय

     लॉकडाउन के 16वें दिन शब ए बारात के मौके पर दरगाहों व क़ब्रिस्तान में नही गया मुस्लिम समुदाय,घरों में ही रहकर की इबादत,उलेमाओं व प्रशासन की अपील का हुआ असर।


        - अब्दुल जब्बार


     भेलसर(अयोध्या)प्रधानमंत्री के 21 दिन के सम्पूर्ण लॉक डाउन की घोषणा के 16वें दिन नगर क्षेत्र में मुस्लिम उलेमाओं व प्रशासन द्वारा सहयक पुलिस अधीक्षक की अगुवाई में किये गए सड़कों पर पैदल गश्त के दौरान लाक डाउन का पालन करने व शबे बरात के मौके पर दरगाहों,मज़ारों व कब्रिस्तानों पर न जाकर घरों पर ही रहकर इबादत करने के लिए अपील का असर देखने को मिला।दरगाह शरीफ,मज़ारों व कब्रिस्तानों पर मुस्लिम समाज के लोग न जाकर अपने अपने घरों में ही इबादत की।पूरे क्षेत्र में सन्नाटा पसरा रहा।
    लॉक डाउन के 16वें दिन शबे बारात के मौके पर दरगाह शरीफ,मज़ारों व कब्रिस्तानों पर सन्नाटा पसरा रहा।मुस्लिम समाज के लोगों ने अपने उलेमाओ व प्रशासन की अपील का सम्मान करते हुए दरगाह शरीफ,मज़ारों व कब्रिस्तानों पर न जाकर अपने अपने घरों में रहकर इबादत की।बतादें की उलेमाओं ने व पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों ने मुस्लिम समाज से शबे बरात के मौके पर दरगाह शरीफ,मज़ारों पर व कब्रिस्तानों में न जाकर घर पर ही इबादत करने की अपील की थी।हालांकि लॉक डाउन का पालन कराने के लिए क्षेत्र में प्रशासनिक अधिकारी सहयक पुलिस अधीक्षक निपुण अग्रवाल,कोतवाल विश्वनाथ यादव,वरिष्ठ उपनिरीक्षक शमशाद अली सतर्क रहें और क्षेत्र में भर्मण करते रहे।वहीँ चौकी इंचार्ज संतोष कुमार त्रिपाठी,रविश कुमार,राम चेत यादव, सुधाकर यादव,उपनिरीक्षक सुजीत मौर्य,अशोक कुमार,राम खेलाड़ी मय पुलिस बल अपने अपने क्षेत्र में भर्मण कर मुस्लिम समाज से शबे बरात के मौके पर दरगाह शरीफ,मज़ारों पर व कब्रिस्तानों में न जाकर घर पर ही इबादत करने की अपील कर रहे थे।इस दौरान इक्का दुक्का लोग निकले जिन्हें पुलिस ने सख्ती से वापस किया।दरगाह शरीफ,मज़ारों व कब्रिस्तानों के इर्द गिर्द पुलिस की सख्त निगरानी रही।शबे बारात के मौके पर जहाँ सारी रात दरगाह शरीफ,मज़ारों व कब्रिस्तानों में अपने अपने पूर्वजों की क़ब्रो पर फ़ातिहा पढ़ने वाले लोगों का तांता लगा रहता था वहाँ सन्नाटा पसरा रहा।