लॉकडाउन के दौरान धार्मिक कार्य अपने-अपने घरों से संपन्न करें: जिलाधिकारी


         जिलाधिकारी अनुज कुमार झा  व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष कुमार तिवारी ने संयुक्त रूप से उपस्थित  सभी धर्मों के  धर्मगुरुओं  से अपील की , कि अपने अपने धर्मों के लोगों को कोरोनावायरस के बारे में जागरूक करें एवं उसके दुष्परिणाम  के बारे में बताएं तथा लोगों को लॉक डाउन के दौरान अपने घरों में रहने तथा सभी धार्मिक कार्य यथा पूजा  ,नमाज आदि अपने घरों में ही संपन्न करें। जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के इस अपील पर बैठक में उपस्थित सभी धर्मों के धर्मगुरुओं ने एक स्वर में जिला अधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा बताए गए बातों पर सहमति व्यक्त करने के साथ आश्वस्त किया कि वे सभी अपने -अपने स्तर से लोगों को सभी धार्मिक कार्य लॉक डाउन के दौरान  अपने-अपने घरों से संपन्न करने के लिए कहेंगे और उसका पालन भी कराएंगे ।जिलाधिकारी अनुज कुमार झा व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष कुमार तिवारी ने कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रसार की रोकथाम व बचाव के हेतु लागू लॉक डाउन के दृष्टिगत सभी धर्मो के धर्मगुरुओं के साथ बैठक की। 
       सिया धर्मगुरु मोहम्मद नदीम रजा, टाटशाह मस्जिद के इमाम इयाज शमसुल कादरी, मुस्लिम नेता नजमुल हसन गनी, नाका हनुमानगढ़ी के महंत रामदास, राम वल्लभाकुंज के महंत राजकुमार दास, पूर्व चेयरमैन विजय गुप्ता, सुशील जायसवाल, चंद्र प्रकाश गुप्ता, सरदार जसवीर सिंह सेठी व अन्य संभ्रांत नागरिक सहित अपर जिलाधिकारी (नगर) डॉ वैभव शर्मा आदि उपस्थित थे।
      इस अवसर पर जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कहा कि लाॅक डाउन के दौरान केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा आम जनता के सभी आवश्यक सुविधाएं को उपलब्ध कराने के दृष्टिगत मनरेगा जॉब कार्ड धारकों, अंत्योदय कार्ड धारकों को दोगुना राशन, निराश्रित मजदूरों, श्रम विभाग में पंजीकृत मजदूरों को 1-1 हजार रुपए की राहत दिया जा रहा है। सरकार व जिला प्रशासन अपनी तरफ से सभी आवश्यक कदम उठा रही है। 
        जिला प्रशासन द्वारा कम्यूनिटी किचन की भी व्यवस्था की गई है इसी के साथ-साथ स्वयंसेवी संस्थाओं ने भी काफी सहयोग किया जा रहा है। दूध, सब्जी, दवा एवं अन्य सभी आवश्यक सुविधाओं को डोर टू डोर पहुंचाने की व्यवस्था सुचारू रूप से चल रही है। जनपद में उचित दर की दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिग और अन्य सभी निर्देशों का अनुपालन कराते हुए खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है। 
      जिलाधिकारी ने स्वयंसेवी संस्थाओं से प्रशासनिक व्यवस्था के तहत ही राशन व खाने के पैकेट बांटने की अपील की है।इस अवसर पर सभी धर्मगुरुओं एवं गणमान्य नागरिकों ने कहा की कोरोना वायरस से बचने का सोशल डिस्टेंसिंग और लाॅक डाउन ही एक मात्र इलाज है। सभी लोग इससे बचने हेतु स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन द्वारा जारी निर्देशों का पालन करें और तन-मन-धन से इसमें सहयोग करें व प्रचार-प्रसार करें। सभी ने एक स्वर में जिला प्रशासन द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की और कदम से कदम मिलाकर आने वाली बाधाओं से पार पाने हेतु अस्वस्थ किया। 
       वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि अयोध्या से हमेशा दुनिया में अमन और शांति का संदेश गया है आगे भी जाएगा, उन्होंने अपील की कि लोग गलियों में इकट्ठा ना हो, एक दूसरे के घर पर ना जाएं, बिना हेलमेट के बाइक ना चलाएं, घर से बाहर निकलने से बचें, किसी भी प्रकार की समस्या सुझाव अथवा सूचना को खुलकर कहें उस पर तत्काल आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।
     जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने लोगों से इस समस्या से निपटने हेतु सहयोग की अपील की और कहा कि सरकार द्वारा लाॅक डाउन का कड़ाई से अनुपालन कराने के निर्देश है। अतः कोई भी किसी भी प्रकार की अफवाह न फैलाएं समाज को भ्रमित न किया जाए। सभी सम्मानित धर्मगुरुओं एवं गणमान्य नागरिकों ने जिला प्रशासन का पूर्ण सहयोग करने और निर्देशों का अनुपालन करने हेतु आश्वस्त किया।