प्रदेश में कई सफाई कर्मियों की मौत, योगी आदित्यनाथ दें जबाब: अजय कुमार लल्लू’

       कोरोना महामारी से लड़ने में मददगार सफाई कर्मियों की सुरक्षा की गारंटी करे सरकार, पीड़ित परिवारों को तत्काल 50-50 लाख मुआवजा दे सरकार।


     - डाॅ0 उमा शंकर पाण्डेय  


     लखनऊ, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पिछले दिनों कोरोना महामारी में संक्रमण रोकने के लिए कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करते वक्त सुरक्षा उपकरणों की कमी और प्रशासनिक लापरवाही के चलते सफाई कर्मियों की हुई मौत पर रोष प्रकट किया है। गौरतलब है कि प्रदेश में कई सफाई कर्मियों की अपनी ड्यूटी निभाते वक्त मौत हुई है लेकिन शासन प्रशासन से उनके परिवार को राहत नहीं मिली।
    प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू जी ने आज जारी बयान में कहा कि यह बेहद शर्मनाक है कि हमारी सरकार ने सफाई कर्मचारी साथियों को मरने के लिए लिए छोड़ दिया है। इस कोरोना महामारी में अपनी जान हथेली पर लेकर सफाई कर्मी समाज सेवा कर रहे लेकिन सरकार लगातार उनके साथ खिलवाड़ कर रही है उन्होंने कहा की पूरे प्रदेश में कई जिलों में इस तरह की घटनाएं संज्ञान में आई हैं।
   प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कौशांबी में 23 मार्च को संदीप कुमार, 6 अप्रैल को रेउसा के आत्माराम, 10 अप्रैल को हरदोई के राजेश कुमार और पिछले दिनों लखनऊ, सहादतगंज के रोहित की साफ सफाई और कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करते वक्त मौत हो गयी। यह साधारण मौत नहीं है, यह सरकारी लापरवाही का परिणाम है। सफाई कर्मचारियों के सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है। सभी सफाईकर्मी साथियों की सुरक्षा की सरकार गारंटी करे।उन्होंने कहा कि प्रदेश में हुई सफाई कर्मियों की मौत पर योगी आदित्यनाथ को जबाब देना होगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने मांग करते हुए कहा कि सरकार तत्काल पीड़ित परिवारों को 50-50 लाख रूपये मुआवजा की घोषणा करे।



      अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी अनुसूचित जाति विभाग के राष्ट्रीय नेतृत्व के आवाहन पर उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी अनु0जाति विभाग के चेयरमैन आलोक प्रसाद ने विभाग के सभी पदाधिकारियों एवं जिला/शहर अध्यक्षों, ब्लाक अध्यक्षों को निर्देशित किया है कि आगामी 14 अप्रैल को बाबा साहब डा0 भीमराव अम्बेडकर जी की मूर्ति पर माल्र्यापण करके अपने-अपने घरों में ही श्रद्धासुमन अर्पित करें तथा संविधान की रक्षा हेतु संविधान की शपथ लंे।
    अनु0जाति विभाग की मीडिया प्रभारी  सिद्धिश्री ने बताया कि आज देश कोरोना वायरस संकट से जूझ रहा है। समस्त मानव जाति पर भयंकर आपदा आ पड़ी है। ऐसी विषम परिस्थिति में हम सभी को साथ मिलकर मदद करके श्रेष्ठ परिणाम देने होंगे। अतः बाबा साहब को माल्यार्पण के उपरान्त सभी पदाधिकारीगणों को पूरे अनुशासन के साथ अपनी सामथर््य, सुविधा और श्रद्धा के अनुसार सामाजिक दूरी का ध्यान रखते हुए स्थानीय प्रशासन के निर्देशों का पालन करते हुए शोषित, वंचित, मजदूर वर्ग, पिछड़ों और दलितों को जो संसाधनहीन हैं उन्हें अनाज, भोजन आदि की व्यवस्था करें ताकि कोई भी दलित वंचित गरीब भूखा न रहे यही बाबा साहब की जयन्ती पर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी।