प्रदेश में कोई भूखा न रहने पाये, अधिकारियों को सख्त निर्देश : योगी
 



    लखनऊ,  कोरोना वायरस की चेन तोड़ने को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व में बनाई टीम इलेवन के साथ अभी तक पहुँचाई जा रही सहायता की समीक्षा की। इस टीम के सदस्य अधिकारियों ने मुख्यमंत्री योगी द्वारा दिये गये कार्यों का उन्हें अपडेट दिया।बैठक में ग़रीबों को मुफ़्त राशन देने की सीएम ने प्रमुखता से की समीक्षा की गयी। सुबह 10 बजे बजे तक पूरे प्रदेश में 40 लाख लोगों में बाँटा जा चुका है मुफ़्त राशन। प्राथमिकता के स्तर पर इतनी बड़ी संख्या में हेल्थ प्रोटोकोल के साथ गरीबों का मुफ़्त राशन बाँटने वाला पहला प्रदेश बनता जा रहा है उत्तर प्रदेश। 


मुख्यमंत्री का निर्देश है कि युद्ध स्तर पर हेल्थ प्रोटोकॉल का पालन करते हुए गरीबों के बीच किया जाए मुफ़्त राशन का वितरण। इसके साथ ही हर ग़रीब, ज़रूरतमंद और श्रमिक तक सरकार की तरफ़ से दिया जा रहा है 1 हज़ार रुपया जल्द से जल्द सब तक अवश्य पहुँच जाए।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट निर्देश दिया कि ज़रूरी सामानों की आपूर्ति में जो वाहन लगे हैं, उन्हें क़तई परेशान न किया जाए लेकिन साथ ही इस बात का ध्यान रखा जाए कि वाहनों से सवारियां न ढोई जाएँ। आम लोगों के लिए ज़रूरी सामानों की आपूर्ति चेन टूटनी नहीं चाहिए ज़रूरी सामान पहुँचते ही रहना चाहिए। लॉक डाउन का बिल को कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराया जाए।



महाराजा पब्लिक स्कूल की ओर से कोरोना से प्रभावित ज़रूरतमंदो को राहत दिलाने हेतु 51000/- का दान डिस्ट्रिक्ट राइफ़ल क्लब को दिया गया। विद्यालय की ओर से राजा अयोध्या ने  ज़िलाधिकारी अनुज कुमार झा को सौंपा चेक।


     मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कुछ राज्यों में लोगों की मदद करने के लिए सरकारी कर्मचारियों से वेतन कटौती की जा रही है परंतु उत्तर प्रदेश में किसी भी सरकारी कर्मचारी के वेतन आदि से कोई कटौती नहीं की जाएगी, उल्टे उनकी पूरी तनख़्वाह पहले हफ़्ते में उनके अकाउंट में पहुँच जाएगी, सरकार अपने संसाधनों से ही लोगों की पूरी मदद करेगी।उन्होंने कहा कि आपदा कार्य में लगे पुलिसकर्मियों, स्वास्थ्यकर्मियों, सफ़ाई कर्मियों समेत हर सरकारी कर्मचारी और संविदा कर्मियों की सेलरी हर हाल में पहले सप्ताह में पहुँच जाए, उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी कर्मचारी के वेतन से जुड़ी समस्या सामने नहीं आनी चाहिए यदि ऐसी समस्या आयी तो जवाबदेही तय कर कार्रवाई की जाएगी, उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के अन्य बिलों का भी अतिशीघ्र भुगतान किया जाएगा। उन्होंने यह भी स्पष्ट तौर पर कहा कि आपदा कार्य में लगे हर कर्मचारी का 50 लाख ₹ का बीमा सुनिश्चित कराया जाए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में कहीं भी कोई भूखा नहीं रहना चाहिए, अनाज के सरकारी गोदाम जरूरतमंदों के लिए 24 घंटे खुला रहने चाहिए हर ज़रूरतमंद तक भोजन अवश्य पहुँचे। जमात से वापस आए लोगों की युद्ध स्तर पर तलाश करके उनकी पड़ताल की जाए जिन लोगों ने तथ्यों को छुपाया है उनके ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई की जाए जमात के ज़रिए जो लोग विदेश के हैं उनके पासपोर्ट फ़िलहाल ज़ब्त कर लिया जाएं और यह सुनिश्चित कराया जाए की जमात के लोगों की गलतियों का खामियाजा आम लोगों को न भुगतना पड़े, उन्होंने कहा कि मानवता के ख़िलाफ़ किसी भी तरह की कोशिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी, जिन लोगों ने मानवता ख़िलाफ़ जाकर कार्य किया है उन्हें कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा।



उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी को आज दिनांक 01 अप्रैल, 2020 को उनके कार्यालय कक्ष में नार्दन रेलवे महिला कल्याण समिति की अध्यक्ष अपर्णा त्रिपाठी एवं ए0डी0आर0एम0 वीना कुमारी 01 लाख का चेक लखनऊ डिवीजन महिला कल्याण समिति की तरफ से प्रधानमंत्री राहत कोष हेतु देती हुईं।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने CM पोर्टल के अलावा हर ज़रूरतमंद की मदद के लिए तत्काल एक टोल फ़्री नंबर शुरू करने के आदेश राजस्व को दिए और कहा कि कंट्रोल रूम शुरू करके पूरे प्रदेश की विधिवत मॉनिटरिंग की जाए। जो लोग आसरा स्थलों में रह रहे हैं उनकी काउंसलिंग के लिए विशेषज्ञ, डॉक्टरों, सोशल स्टडी के विद्वानों की मदद से हर कैंप में काउंसिल के निर्देश दिए गए।


लॉग डॉन के दौरान पूरे प्रदेश में विधिवत सफ़ाई और सैनिटाइजेशन के आदेश दिए और कहा कि नियमित तौर पर फ़ॉगिंग कराई जाए।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पशुओं के चारों को लेकर कहीं कोई कमी नहीं होनी चाहिए, पर्याप्त चारा मौजूद है और इसका पूरा उपयोग होना चाहिए।फ़सल की कटाई के संदर्भ में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि मंडियों को तैयार रखा जाए और ख़रीदारी के लिए जल्द से जल्द सारी तैयारियां सुनिश्चित करा ली जाएं।