पुलिस के डर से पिछले तीन दिनों से इधर उधर भटक रहा युवक

पुलिस के डर से पिछले तीन दिनों से इधर उधर भटक रहा युवक,भारती इंटर कॉलेज पहुंचकर कराया क्वेरंटाइन।
       बीकापुर अयोध्या, तहसील क्षेत्र के तारुन थाना क्षेत्र के हरीपुर निवासी मुजफ्फरनगर से घर वापस आया एक युवक जैसराज पुलिस के डर से पिछले तीन दिनों से इधर उधर भटक रहा है। उसकी पत्नी भी उसके साथ मौजूद है। जबकि उसके चार बच्चे घर में मौजूद हैं।
      शुक्रवार सुबह युवक और उसकी पत्नी बीकापुर कोतवाली क्षेत्र के चवरढार गांव के पास एक गेहूं के खेत में दिखाई पड़े।
     मौके पर पहुंचे गांव निवासी शिवकुमार तिवारी, संजय तिवारी और ग्रामीणों  ने युवक और महिला को परेशान और दहशत में देखकर मदद की गई पति-पत्नी को फल खिलाया गया। तथा डायल 112 पीआरबी और कोतवाली पुलिस को सूचना दिया। उसके बाद ग्रामीण पति पत्नी को अपने साथ लेकर बीकापुर में संचालित आश्रय स्थल भारती इंटर कॉलेज पहुंचे और वहां उन्हें क्वेरंटाइन कराया।
       तारुन थाना अंतर्गत हरीपुर निवासी 35 वर्षीय जैसराज निषाद ने बताया कि वह मुजफ्फरनगर में रहकर एक ईट भट्टे पर काम करता है। लॉक डाउन के कारण काम धंधा बंद होने पर  20 अप्रैल को किसी तरह सुबह जब घर पहुंचा तो रामपुरभगन पुलिस चौकी के  सिपाही राजेश कुमार द्वारा उसे बुलाकर रामपुरभगन के मिडिल स्कूल में रहने केेे लिए कहा और उसे भोजन करने के लिए घर भेज दिया। घर से आने में थोड़ी देरी हुई तो सिपाही राजेश कुमार द्वारा उसकी बुरी तरह पिटाई की गई। लेकिन स्कूल में ठीक से रहने खाने की व्यवस्था ना होने और पुलिस के डर से वह वहां से निकल गया। उसके बाद वह इधर-उधर रह रहा है। उसकी पत्नी भी उसके साथ चली आई है।
     बताया कि रामपुर भगन चौकी पुलिस की हरकत वह और उसकी पत्नी दहशत में हैं। बीकापुर में उनके लिए रहना ठीक है। लेकर रामपुर भगन आश्रय स्थल पर नहीं।