राम नगरी अयोध्या में हाहाकार, कोविड-19 ने दी दस्तक

       


    अयोध्या, राम नगरी अयोध्या में कोरोना संक्रमित एक मरीज मिलने से हाहाकार मच गया है। अयोध्या जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने काफी मेहनत कर जिले को संभाला था। अनुज कुमार झा ने मेहनत कर जनपद को कोविड-19 से मुक्त कर रखा था। बाहर से आए हुए नागरिकों के सूचना न मिलने के कारण अयोध्या में ऐसी घटना घट पाई है। इस महामारी के दौरान बाहर से आए हुए लोग   अपने और अपने परिवार के साथ समाज को भी इस महामारी की चपेट में ले रहे हैं। एक अधिकारी तो अपने कर्तव्य का पालन कर  दिन-रात संघर्ष कर रहा है। आम नागरिक को भी अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए इसकी जानकारी प्रशासन को उपलब्ध करानी चाहिए जिससे हम अपने समाज को इस महामारी से बचा सकें और एक सच्चे नागरिक का फर्ज है निभा सकें।आज जनपद में पहला मरीज प्रकाश में आने से उनकी मेहनत को झटका लगा है लेकिन अनुज कुमार झा के सूझबूझ ने तत्काल कार्रवाई करते हुए उसे एरिया को पूरा सेनीटाइज कर लोगों से अपील की कि जागरूक रहकर हमारी मदद करें।


   तहसील सदर के ग्राम सनेथू में कोरोना वायरस के एक संक्रमित महिला मिलने पर संक्रमित महिला के निवास स्थल के चारों तरफ एक किलो मीटर की परिधि को किया गया सील उक्त क्षेत्र कोे नियंत्रण क्षेत्र घोषित कर सेन्टर सहित चारो दिशाओ में एक-एक मजिस्ट्रेट कुल 05 मजिस्ट्रेट की तैनाती कर दी गई है। परिधि के सेन्टर में तहसीलदार परमेश कुमार पूरब दिशा की ओर, पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 वृजेन्द्र सिंह पश्चिम दिशा की ओर, पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 कमलेश यादव उत्तर दिशा की ओर, पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 आनन्द कुमार तथा दक्षिण दिशा की ओर पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 अजय कुमार को मजिस्ट्रेट के रूप  में किया गया तैनात।उक्त जानकारी देते हुए जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि कोरोना वायरस कोविड-19 के प्रभाव को रोकने एवं बचाव व नियंत्रण हेतु 01 कि0मी0 नियंत्रण क्षेत्र को 23 अप्रैल से 25 अप्रैल तक अस्थाई रूप से सील का दिया गया है किसी भी व्यक्ति के प्रवेश एवं निकास तथा वाहनो के संचालन पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। प्रतिबंधित क्षेत्र में सभी व्यक्ति अपने आवास में ही रहेंगे। तैनात मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियो को आदेश का कड़ाइ्र से अनुपालन के निर्देश दिये है। सुरक्षा, चिकित्सा टीमे एवं सेनैटाइजर करने वाली ही टीमे व एम्बुलेंस अधिकारियो की गाड़िया ही अन्दर प्रवेश कर पायेगी। जिलाधिकारी ने बताया कि अपरिहार्य स्थिति में एकीकृत आपदा नियंत्रण के कन्ट्रोल रूम नं0 8929100752 तथा कोरोना कन्ट्रोल रूम नं0 7081670802, 7570801319, 7570800193, 8795298586, 9453116001 पर सम्पर्क किया जा सकता है। जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि 01 कि0मी0 नियंत्रण क्षेत्र को स्प्रैंगलर मशीन द्वारा सैनेट्राइज व डिस्इन्फैक्ट कराया जा रहा है।



    अनुज कुमार झा ने बताया कि तहसील सदर के ग्राम सनेथू में एक कोराना पाॅजटिव महिला के मिलने पर उस क्षेत्र के एक किमी की परिधि को नियंत्रण क्षेत्र घोषित किया गया। उन्होंने नियंत्रण क्षेत्र के हर व्यक्ति से अपील की है कि यदि वे संक्रमित मरीज के सम्पर्क में रहे हो तो चेक ध्सर्वे के दौरान जाने वाले चिकित्सक टीम को अवश्य बताये। उन्होंने यह भी अपील की यदि नियंत्रण व बफर जोन में किसी भी के अन्दर खासी, जुखाम, छीक व बुखार के लक्षण बेचैनी सांस फूलने के लक्षण प्रकट होते है तो तुरन्त सर्वे टीम को बताये।
जिलाधिकारी ने जनपद के निवासियों से अपील की है कि लाॅक डाउन के दौरान अपने-अपने घरो में रहें, बाहर कदापि न निकलें, जबतक आप अपने घर में है आप स्वंय एवं आपका परिवार पूर्ण रूप से सुरक्षित रहेगा। यदि अपरिहार्य स्थिति में केवल घर का एक व्यक्ति जो पूर्ण रूप से स्वस्थ्य एवं युवा हो वह मास्क पहनकर बाहर निकले और घर में प्रवेश के पूर्व हाथों को साबुन पानी से सेनैटाइजर करें ।


       जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कोरोना वायरस से संक्रमित महिला का उपचार थाना कोतवाली अयोध्या, निकट दर्शननगर संजाफी हास्पिटल में निकटकाल में चल रहा था, उसे भी अग्रिम आदेशो तक सील कर सेनैटाइज किया जा रहा है तथा उसे पूर्ण रूप से डिस्इन्फेक्ट कराया जा रहा है।


    जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने ग्राम सनेथू विकास खण्ड पूरा बाजार में एक महिला कोविड पाजटिव पाये जाने पर 01 किमी परिधि क्षेत्र को नियंत्रण जोन तथा 03 किमी के क्षेत्र को बफर जोन घोषित करते हुए 14 सेक्टर में बाॅटकर सभी घरों व प्रतिष्ठानों को सेक्टरवार गठित 14 टीमों द्वारा सर्वे कर कार्य प्रारम्भ करा दिया गया है। प्रत्येक सेक्टर में 50 से अधिक घर एवं प्रतिष्ठान नहीं होंगे।



   जिलाधिकारी ने बताया कि गठित सेक्टरवार 14 टीमों में 05 सदस्य कुल 70 होंगे जिसमें 01 लेखपाल, 02 स्वास्थ्य कर्मी, 02 सफाई कर्मी सम्मिलित होंगे, जो प्रत्येक घर जाकर कोरोना वायरस के पाॅजटिव पेशेन्ट के सम्पर्क में आये हुए व्यक्तियों को ढूढेंगी तथा यदि कोई व्यक्ति संक्रमित है जिसमें लक्षण पाये जाते है उन्हें सुपरवाइजर के माध्यम से क्वारन्टाइन फैसलिटी सेन्टर में भिजवाना सुनिश्चित करेंगी तथा निर्धारित प्रारूप पर रिर्पोट प्राथमिक विद्यालय सनेथू में अस्थाई कन्ट्रोल रूम में जमा करेगी। 01 कि0मी0 नियंत्रण क्षेत्र में हर व्यक्ति का थर्मोस्कैनिंग भी होगी।



       वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी तहसील सदर के ग्राम सनेथू के नत्थन का पुरवा थाना पूरा कलन्दर में एक महिला की कोरोना रिर्पोट पाॅजटिव पाये जाने पर घोषित 01 किमी के नियंत्रण क्षेत्र में 12-12 घण्टे की दो शिफ्ट में सभी 07 सम्पर्क मार्गों पर अस्थाई बैरीकेटिंग लगाकर पूर्ण रूप से सील करा दिया गया है। हर सम्पर्क मार्ग पर उप निरीक्षक सहित 05 पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। उक्त गाॅव को सील करने हेतु 02 सिफ्ट में 70 पुलिस के अधिकारी एवं जवान तैनात कर दिया गया है।




    वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने बताया कि तैनात हर पुलिस के अधिकारी एवं कर्मियों को विधिवित ब्रीफ करते हुए स्पष्ट रूप से बता दिया है कि उन्हें क्या-क्या करना है। उन्होंने बताया इस दौरान नियंत्रण क्षेत्र में न तो कोई व्यक्ति प्रवेश कारेगा न ही कोई बाहर निकलेगा जब तक उसके साथ कोई अपरिहार्य स्थित न हो। उन्होंने बताया ड्यूटी के दौरान स्वंय को कोरोना वायरस से बचाव व दूसरो को जागरूक करने के टिप्स हर पुलिस कर्मियो को दे दिये गये है।वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री आशीष तिवारी ने बताया कि तैनात हर पुलिस के अधिकारी एवं कर्मियों को विधिवित ब्रीफ करते हुए स्पष्ट रूप से बता दिया है कि उन्हें क्या-क्या करना है। उन्होंने बताया इस दौरान नियंत्रण क्षेत्र में न तो कोई व्यक्ति प्रवेश कारेगा न ही कोई बाहर निकलेगा जब तक उसके साथ कोई अपरिहार्य स्थित न हो। उन्होंने बताया ड्यूटी के दौरान स्वंय को कोरोना वायरस से बचाव व दूसरो को जागरूक करने के टिप्स हर पुलिस कर्मियो को दे दिये गये है। हर पुलिस के अधिकारी व जवान मास्क पहनने के साथ हाथो को सेनैटाइजर करने व सोशल डिस्टैसिंग बनाये रखने के निर्देश दिये गये है। पुलिस के उच्च अधिकारियो को सनेथू में तैनात स्टाफ के ड्यूटी को चेक करने के साथ उनके लिए सम्पूर्ण व्यवस्था करने के निर्देश दिये गये है