साम्प्रदायिक आधार पर बटे तो न सिर्फ कोरोना के खिलाफ लड़ाई कमजोर होगी अपितु यह देश भी कमजोर होगा-शिवपाल यादव


    शिवपाल सिंह यादव ने देश व प्रदेशवासियों को डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जयंती पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी,अंबेडकर थे सामाजिक न्याय के अनन्य योद्धा,जाति, सम्प्रदाय, भाषा व भौगोलिक सीमाओं से ऊपर उठकर कोरोना के विरुद्ध निर्णायक लड़ाई का संकल्प लें - शिवपाल यादव


    लखनऊ, पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने देश व प्रदेशवासियों को डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जयंती पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।शिवपाल यादव ने अंबेडकर जयंती की पूर्व संध्या पर जारी अपने संदेश में कहा कि डॉ. भीमराव अंबेडकर ने भारतीय संविधान के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने सामाजिक समरसता पर बल देते हुए हमेशा शोषितों और पीड़ितों के पक्ष में आवाज उठाई। 
शिवपाल यादव ने कहा कि भारतीय संविधान इस देश के नागरिकों को अधिकार प्रदान करने के साथ ही नागरिकों को राष्ट्र के प्रति कर्तव्य परायणता का संदेश भी देता है। आज इस संकट की घड़ी में हमें राष्ट्र के प्रति कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिए और जाति, सम्प्रदाय, भाषा व भौगोलिक सीमाओं से ऊपर उठकर कोरोना के विरुद्ध निर्णायक लड़ाई का संकल्प लेना चाहिए।
अगर हम साम्प्रदायिक आधार पर बटेंगे तो न सिर्फ कोरोना के खिलाफ लड़ाई कमजोर होगी अपितु यह देश भी कमजोर होगा।
शिवपाल यादव ने कहा कि डॉ अंबेडकर साम्प्रदायिक सद्भाव के प्रबल समर्थक थे। वे मानते थे कि एक सशक्त भारत की संकल्पना बहुसंख्यक व अल्पसंख्यकों के समग्र विकास से ही संभव है।
शिवपाल यादव ने कहा कि डॉ अंबेडकर महिला उत्थान के भी प्रबल पक्षधर थे और उन्होंने महिलाओं को सशक्त एवं शिक्षित करने पर बल दिया।
शिवपाल यादव ने कहा कि अंबेडकर सामाजिक न्याय के अनन्य योद्धा थे।श्री यादव ने कहा कि हम सबको डॉक्टर अंबेडकर के विचारों का अनुसरण करते हुए समतामूलक समाज की स्थापना करने के लिए निरंतर प्रयासरत रहना चाहिए।